Home Latest क्रिकेटर यशस्वी ने निकाल दी इंग्लैंड की हवा | Yashasvi’s Record-breaking Performance

क्रिकेटर यशस्वी ने निकाल दी इंग्लैंड की हवा | Yashasvi’s Record-breaking Performance

0 comment
Explore how Yashasvi Jayaswal's exceptional cricketing skills shattered records and led India to victory against England.

भाईसाब, क्या आपको पता है, हाल ही में 5 टेस्ट मैचों की श्रृंखला खेलने भारत आई इंग्लैंड की टीम ने यहां कदम रखने के पहले ही रणनीतिक तौर पर ‘बैजबॉल’ का शगूफा छोड़ दिया था, बता दें कि ‘बैजबॉल’ एक मनोवैज्ञानिक हमले की तरह होता है, ‘बैजबॉल’ का मतलब होता है, रेड बॉल यानी टेस्ट क्रिकेट में आक्रामक तरीके से बल्लेबाजी करना और गेंदबाजों द्वारा विकेट लेने के लक्ष्य को ध्यान में रखकर bowling करना, यही बैजबॉल का open secret है और इसी शैली का इस्तेमाल करके इंग्लैंड ने आक्रामक क्रिकेट खेलकर अपनी नई पहचान बनाई है।

भाईसाब, इंग्लैंड से भारत रवाना होने के पहले इंग्लिश कैप्टन बेन स्टोक्स का ऊंची आवाज में ये कहना स्वाभाविक ही था कि हम बैजबॉल क्रिकेट खेलेंगे और फिर देखेंगे कि भारत की टीम कितनी मजबूत हैं, पहला टेस्ट मैच इंग्लैंड ने अपनी इसी रणनीति की बदौलत जीत लिया था, लेकिन इसके बाद दो टेस्ट मैच भारत ने पलटवार करते हुए जबरदस्त तरीके से जीते हैं, भाईसाब, इससे जहां एक तरफ इंग्लिश टीम का दावा ‘बड़बोलापन’ साबित हुआ है, वहीं यह भी साफ हो गया है कि उसकी बैजबॉल रणनीति की साइकोलॉजी उन्हीं टीमों को परेशान कर सकती है, जिनका बेस मजबूत नहीं है। भाईसाब, भारत में तो इंग्लिश टीम पिछले दो टेस्ट मैच, जिस तरीके से हारी है, उसमें समूची भारतीय टीम से कहीं ज्यादा एक अकेले यशस्वी जयसवाल के तूफान में ही उनकी सारी बैजबॉल रणनीति साफ हो गई है, व्यवहार में पिछले दो टेस्ट मैचों में असली बैजबॉल क्रिकेट तो भारत के युवा सितारे यशस्वी जायसवाल ने खेली है, जो दूसरे टेस्ट मैच में सितारा बनकर उभरे थे और तीसरे टेस्ट के बाद तो हर तरफ यशस्वी sixer king के रूप में विख्यात हो गए हैं। भाईसाब, england का बाजा सही मायनों में यशस्वी जायसवाल ने ही बजाया है, जिन्होंने अपने पिछले दो टेस्ट मैचों में ही आंकड़ों और रिकॉर्डों की ऐसी बारिश कर दी है कि आजादी के बाद से भारतीय क्रिकेट की रिकॉर्ड बुक उलट-पलट गई है, यशस्वी ने इंग्लैंड के खिलाफ विशाखापट्टनम में 209 और अब राजकोट में 214 रन बनाये, उन्होंने अपने सातवें टेस्ट मैच में ही दूसरी डबल सेंचुरी जमा दी, भाईसाब, उन्होंने इंग्लैंड के खतरनाक गेंदबाज जेम्स एंडर्सन की एक ओवर की लगातार तीन गेंदों में मैदान के हर तरफ हैरान कर देने वाले छक्के लगाए, भाईसाब, सीमित समय में ही यशस्वी ने जहां एक तरफ एंडर्सन को पूरी जिंदगी याद रखने वाला सबक सिखाया, वहीं दूसरी तरफ उन्होंने किसी भी भारतीय बल्लेबाज द्वारा किसी टेस्ट मैच की एक पारी में लगाये गए छक्कों का रिकॉर्ड तोड़ दिया।

चलते-चलते भाईसाब, आपको जानकारी दे दें कि यशस्वी से पहले भारत के दो खिलाड़ियों नवजोत सिंह सिद्धू और मयंक अग्रवाल ने टेस्ट मैच की एक पारी में सबसे ज्यादा 8-8 छक्के लगाए थे, सिद्धू ने यह कारनामा श्रीलंका के विरूद्ध, तो मयंक अग्रवाल ने बांग्लादेश के खिलाफ किया था, यशस्वी इन दोनों से चार छक्के ज्यादा लगाकर एक पारी में 12 छक्के लगाने का रिकॉर्ड बनाया जो कि पाकिस्तान के गेंदबाज वसीम अकरम के नाम दर्ज है, 28 साल पहले अकरम ने साल 1996 में जिम्बॉब्वे के विरूद्ध शेखपुरा में खेले गए टेस्ट मैच की एक पारी में 12 छक्के जड़े थे.

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.