Home Mahanubhav क्या विवेक रामास्वामी बनेंगे अमेरिका के राष्ट्रपति ? | Vivek Ramaswamy |

क्या विवेक रामास्वामी बनेंगे अमेरिका के राष्ट्रपति ? | Vivek Ramaswamy |

0 comment

जानते है,अमेरिकी राष्ट्रपति उमीदवार के दौड़ में खड़े हुए विवेक रामास्वामी के बारे में ,

विवेक रामास्वामी एक अमेरिकी व्यवसायी है जिनकी कुल संपत्ति 500 मिलियन डॉलर है जो की एक बायो -फार्मास्युटिकल कंपनी के मालिक है जिसका नाम रोइवैंट साइंसेज है रामास्वामी के माता पिता अमेरिका में रहने वाले भारत के केरल से अप्रवासीय भारतीय है और विवेक का जन्म अमेरिका में हुआ जिस से उनको वहां की नागरिकता मिल गयी क्योकी अमेरिकी कानून के हिसाब से अमेरिका में पैदा हुए बच्चे ऑटोमेटिकली वहां के नागरिक बन जाते हैं।

विवेक हार्वर्ड कॉलेज से जीव विज्ञान की डिग्री के साथ स्नातक की उपाधि प्राप्त की, और फिर येल लॉ स्कूल से लॉ में स्नातक की उपाधि प्राप्त की। वर्ष 2015 में, दवा विकास पर विवेक का काम फोर्ब्स पत्रिका के फ्रंट कवर पर दिखाई दिया।
सीनेटर रॉब पोर्टमैन द्वारा अपनी सेवानिवृत्ति की घोषणा के बाद, मीडिया में अटकलें थीं कि रामस्वामी उनकी जगह लेने के लिए 2022 का चुनाव लड़ेंगे, लेकिन अंततः उन्होंने इनकार कर दिया और फरवरी 2023 में, रामस्वामी ने 2024 के चुनाव में राष्ट्रपति पद के लिए रिपब्लिकन पार्टी के नामांकन के लिए अपनी उम्मीदवारी की घोषणा की।

रामास्वामी भारतीय डायस्पोरा को लुभाने में सक्षम तो है ही वही उनकी इंटरनेशनल रिलेशन्स में भी अच्छी पकड़ है उनके अनुसार चीन और रूस का मिलिट्री अलायन्स अमेरिका और नाटो के लिए सबसे बड़ा खतरा बन सकता है इंडिया को लेकर उनकी सोच बहुत उदारवादी है उनका कहना है की अगर चीन के प्रभाव को काम करना है तो हमे इंडिया के साथ बेहतर रिश्ते रखने होंगे साथ ही साथ साउथ कोरिया और जापान से भी अच्छे अलायन्स रखने होंगे वही उन्होंने कहा है की ‘अमेरिका को सेमीकंडक्टर की भारी जरुरत है और इस जरुरत को पूरा करने में ताईवान पूरी तरह से सक्षम है लेकिन ताइवान पर हमेशा चीन अपना दबदबा दिखता रहता है जिसके लिए हमे ताइवान के हित में हमेशा कदम बढ़ाना चाहिए ‘।

जब डोनाल्ड ट्रम्प से विवेक के बारे में पूछा गया तो उन्होंने ने बताया की ‘विवेक एक अच्छे और शानदार इंसान है ,विवेक मुख्यतौर पर अमेरिकी उपराष्ट्रपति के लिए बेहतर उम्मीदवार होंगे’।

banner

वहीँ रामास्वामी अपने प्रतिद्वंदियों पर भारी पड़ रहें है उन्होंने सार्वजनिक रूप से अपने व्यक्तिगत आयकर रिटर्न के 20 वर्षों को जारी किया और प्राथमिक रूप से अपने प्रतिद्वंद्वियों से भी ऐसा करने का आह्वान किया ताकि लोगो के सामने एक ट्रांसपेरेंट लीडर की छवि बन सके रामास्वामी का कहना है की अमेरिकी कार्य प्रणाली ने अपने मूल्यों धार्मिक विश्वास, देशभक्ति और कार्य नैतिकता को पीछे छोड़ दिया है जिस से दुनिया में अमेरिकन्स की वैल्यू धीरे धीरे कम हो रही है

मई 2023 में रामास्वामी कंट्रोवर्सी का भी शिकार हो गए थे, इस कंट्रोवर्सी में उन पर आरोप लगा था की उन्होंने अपनी उम्मीदवारी की घोषणा करने से पहले अपनी विकिपीडिया जीवनी को बदलने के लिए एक संपादक को भुगतान किया था, लेकिन रामास्वामी ने इस बात से इनकार करते हुए कहा की है मैंने जीवनी को चेंज करवाया था लेकिन उसका राजनीती से कोई लेना देना नहीं था।

देखना यही है के,वर्ष 2024 में अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव क्या क्या मोड़ लेता है और विवेक रामास्वामी अपनी उम्मीदवारी का प्रभाव किस लेवल तक अमेरिकन्स में छोड़ पाते है।

ऐसेही महत्वपूर्ण जानकारी के लिए जुड़े रहिये भाईसाब के साथ।

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.