Home Dharohar वीर बहादुर सिंह नक्षत्रशाला , गोरखपुर । Taramandal Gorakhpur |

वीर बहादुर सिंह नक्षत्रशाला , गोरखपुर । Taramandal Gorakhpur |

0 comment
वीर बहादुर सिंह नक्षत्रशाला , गोरखपुर । Taramandal Gorakhpur |

नमस्कार भाई साब, बात करते है गोरखपुर की वीर बहादुर सिंह नक्षत्रशाला के बारे में,
नब्बे के दशक की जब तत्कालीन मुख्यमंत्री वीर बहादुर सिंह जी के निर्देशन में रामगढ़ ताल परियोजना शुरू कि गयी थी ,जिसके अंतर्गत गोरखपुर में नक्षत्रशाला के निर्माण के काम को आवास विकास परिषद् को सौंपा गया था जिसका निर्माण कार्य वर्ष २००५ में पूरा किया गया और वर्ष २००६ में तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव जी द्वारा २३ जनवरी को इसका लोकार्पण किया गया इसी वर्ष अप्रैल महीने में परिषद् ने नक्षत्रशाला का संचालन किसी कारणवस बंद कर दिया जिसको फिर वर्ष २००९ के सितम्बर महीने में शुरू किया गया तब से आज तक यह नक्षत्रशाला निरंतर पूर्वांचल के लोगों को नक्षत्रों की दुनिया से रोमांचित करवा रहा है।

वैसे तो उत्तर प्रदेश में गोरखपुर नक्षत्रशाला के अलावा 2 और नक्षात्रशलायें है जिसमे से एक लखनऊ में है और दूसरा राम पुर में है, एक नक्षत्रशाला प्रयागराज में है जिसे प्राइवेट संस्था संचालित करती है ।
गोरखपुर के नक्षत्रशाला को यहां के लोग तारामंडल बोलते है जिसमे 300 लोगो के एक साथ बैठने की व्यवस्था है और एक एस्ट्रोनॉमी गैलरी भी है जहां से आप नक्षत्रों और ग्रहों की अन्य जानकारी आप प्राप्त कर सकते हैं, इस तारामंडल में हर ग्रहों पे आपका वजन बताने वाली मशीन लोगो के लिए एक ख़ास आकर्षण का केंद्र है ।
खगोलीय दुनिया का आनंद आप 45 मिनट्स के शो में ले सकते है जिसको दिन में 3 बार चलाया जाता है , शो की शुरुआत दोपहर एक बजे होती है। दूसरों शो तीन बजे और तीसरा व अंतिम शो शाम पांच बजे दिखाया जाता है। सोमवार को शो का संचालन नहीं किया जाता है।
आप शो के टिकट परिसर में मौजूद काउंटर से खरीद सकते हैं। यहां एक टिकट का दाम 25 रुपये है। स्कूल से आने वाले बच्चों के समूह को 10 रुपये प्रति टिकट के दर पर शो दिखाया जाता है। भीड़ से बचने के लिए आप टिकट ऑनलाइन भी बुक कर सकते हैं।
वीर बहादुर सिंह नक्षत्रशाला में हर साल दो लाख से अधिक दर्शक ग्रह-नक्षत्रों के दर्शन करने के लिए पहुंचते हैं। इससे नक्षत्रशाला को प्रतिवर्ष लगभग 20 लाख रुपये की वार्षिक आय होती है।

ऐसेही और जानकारी के लिए जुड़े रहिये भाईसाब के साथ ।

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.