Home Latest दुनिया की सबसे पारदर्शी नदी | Umngot River in Meghalaya

दुनिया की सबसे पारदर्शी नदी | Umngot River in Meghalaya

0 comment
Umngot River in Meghalaya

भाईसाब, क्या आपको पता दुनियाभर के लोग साफ पानी पीने के लिए तरसते हैं, और मीठे पाने के लिए RO मशीन का उपायोग करते है, आपकी जानकारी के बता दें कि दुनिया में सबसे ज्यादा पीने लायक पानी न्यूजीलैंड का है, क्योंकि वहां पानी को शुद्ध करने के लिए एडवांस फिल्ट्रेशन सिस्टम बनाया गया है। वहीं, भारत की बात की जाए तो यहां भी एक ऐसी नदी जिसे देश की सबसे साफ नदी कहा जाता है।

भाईसाब, बात अगर साफ पानी की हो रही है तो यह चर्चा करना आवश्यक हो जाता है कि भारत की एक नदी को सबसे साफ होने का दर्जा प्राप्त है। आपको बता दें कि यह भारत के मेघालय में स्थित है और इस नदी का नाम ‘उमंगोट नदी’ है, यह ‘मॉयलन नोंग’ गांव में है, जिसे एशिया का सबसे स्वच्छ गांव भी कहा जाता है। आपको जानकारी के बता दें कि ‘उमंगोट नदी’ को ‘दावकी नदी’ के नाम से भी जाना जाता है, और ये नदी इंडिया-बांग्लादेश सीमा के पास से होकर गुजरती है, भाईसाब, आपको जानकर आश्यचर्य होगा कि ‘उमंगोट नदी’ इतनी क्लिस्टर क्लियर है कि इसमें चलने वाली नाव एकदम साफ-साफ पानी के ऊपर तैरती हुई दिखाई देती है। यहां पक्षियों की चहचहाहट के साथ नदी में पड़ती सूरज की किरणें बेहद सुकून देने वाली होती है और एक नेचुरल इन्वायरमेंट का एहसास दिलाती है, यहां का माहौल इतना शांत रहता है कि गिरने वाली पानी की एक-एक बूंद की आवाज भी आराम से सुनी जा सकती है, पानी में चलने वाली नाव को देखकर ऐसा लगता है मानो नाव किसी कांच के ऊपर या हवा में तैर रही है। इस नदी के अंदर पाए जाने वाले पेबल और स्टोन्स को आप साफतौर पर देख सकते हैं, इस नदी के भीतर की एक-एक चीज बेहद साफ नज़र आती है। भाईसाब, हैरानी की बात है कि ये नदी इतनी ट्रांसपैरेंट हैं कि आप इसमें खुद को भी देख सकते हैं, कचरा तो दूर की बात इस नदी में धूल का एक कण भी नजर नहीं आएगा। आपको बताना जरूरी है कि नवंबर से अप्रैल तक यहां भारी संख्या में पर्यटक आते हैं, इस दौरान पर्यटक यहां बोटिंग का लुत्फ उठाते नजर आ जायेंगे, जबकि मानसून के सीजन में बोटिंग बंद रहती है। भाईसाब, अंग्रेज़ों ने इस नदी पर एक ब्रिज भी बनवाया है, इस नदी में बड़ी संख्या में मछलियां भी हैं, उमंगोट नदी तीन गांवों दावकी, दारंग और शेंनान्ग डेंग से होकर बहती है, इन तीन गांवों में करीब 300 घर हैं और सभी मिलकर इस नदी की सफाई करते हैं। आपको सुनकर आश्चर्य होगा कि, यहां गंदगी फैलाने पर 5000 रुपये तक जुर्माना वसूला जाता है। महीने में तीन से चार दिन कम्युनिटी डे के होते हैं, इसी दिन गांव के हर घर से कम से कम एक व्यक्ति नदी की सफाई के लिए आता है। भाईसाब, एक और गर्व करने वाली बात आपको बताएंगी कि ‘उमनगोट नदी’ से कुछ ही दूरी पर स्थित ‘मॉयलन नोंग’ गांव को एशिया के सबसे साफ गांव का दर्ज़ा हासिल है।

चलते-चलते, भाईसाब, आपको बता दें कि इस नदी के जैसा अद्‌भुत नज़ारा भारत की नदियों में तो देखने को नहीं मिलता, लेकिन मेघालय के लोगों ने इसे गलत साबित कर दिखाया है और हां, जिंदगी में नदियों की क्या अहमियत है ये हमें मेघालय के लोगों से सीखने की ज़रूरत है। अगर आप जनवरी के महीने में किसी सुकून वाली जगह पर जाना चाहते हैं, तो यह स्थान बेस्ट हो सकता है।

banner

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.