Home Dharohar आधुनिक युग में भारत के बाहर बना सबसे बड़ा हिंदू मंदिर :अक्षरधाम मंदिर,न्यू जर्सी (अमेरिका) | Akshardham Temple, New Jersey USA |

आधुनिक युग में भारत के बाहर बना सबसे बड़ा हिंदू मंदिर :अक्षरधाम मंदिर,न्यू जर्सी (अमेरिका) | Akshardham Temple, New Jersey USA |

0 comment

अमेरिका के न्यू जर्सी में स्वामी नारायण अक्षरधाम मंदिर को जनता के लिए खोल दिया गया है। यह मंदिर आधुनिक युग में भारत के बाहर बना सबसे बड़ा हिंदू मंदिर है जो की 126 एकर में फैला हुआ है। वास्तुकला के इस अविश्वसनीय मॉडल को कारीगरों और स्वयंसेवकों के अथक समर्पण से 12 सालो में तैयार किया गया है इस मंदिर का निर्माण वर्ष 2011 में शुरू हुआ था । स्वामिनारायण जी हिंदू धर्म के स्वामिनारायण संप्रदाय के संस्थापक थे और असल में स्वामीनारायण जी का नाम श्री घनश्याम पांडे था और इनका जन्म 3 अप्रैल 1781 को अयोध्या के पास गोंडा जिले के छपियाँ गांव में हुआ था। पांच वर्ष की अवस्था में स्वामीनारायण जी को अक्षरज्ञान हुआ। आठ वर्ष के होने पर उनका जनेऊ संस्कार हुआ। छोटी अवस्था में ही उन्होंने अनेक शास्त्रों का अध्ययन कर लिया। जब वह केवल 11 वर्ष के थे, तो उनके माता व पिताजी का देहांत हो गया। कुछ समय बाद लोगो के कल्याण हेतु उन्होंने घर छोड़ दिया और अगले सात साल तक पूरे देश की परिक्रमा की।

अब लोग उन्हें नीलकंठवर्णी कहने लगे थे। इस दौरान उन्होंने गोपालयोगी से अष्टांग योग सीखा। वे उत्तर में हिमालय, दक्षिण में कांची, श्रीरंगपुर, रामेश्वरम् आदि तक गये। इसके बाद पंढरपुर व नासिक होते हुए वे गुजरात आ गये और यहां उनकी मुलाकात स्वामी रामानंद से हुई जिनको स्वामी नारायण जी ने अपना गुरु बनाया और उनके पगचिन्हो पर चलते हुए उन्होंने यज्ञ में हिंसा, बलिप्रथा, सतीप्रथा, कन्या हत्या, भूत बाधा जैसी कुरीतियों को बंद कराया।स्वामीनारायण जी का कार्य क्षेत्र मुख्यतः गुजरात था जहा उन्होंने अनेक मंदिरों का निर्माण कराया, इनके निर्माण के समय वे स्वयं सबके साथ श्रमदान करते थे और ये मंदिर आज भी स्थापत्य कला और शिखरबद्धता के अद्भुत नमूने को पेश करते है। वही स्वामीनारायण जी का देहावसान 1 जून 1830 को हो गया और उनके फोल्लोवेर्स आज भी पूरी दुनिया में उनके कार्यों से प्रेरणा लेते है और महिमा गान करते है। उनके पुण्य स्मृति में बनाये गए मंदिरो की अगर बात करूँ तो सबसे पहले आता है ,गुजरात के गाँधी नगर में बना अक्षरधाम मंदिर जो 108 फ़ीट ऊँचा 131 फ़ीट चौड़ा और 240 फ़ीट लम्बा है इस मंदिर को राजस्थान के गुलाबी सैंडस्टोन पथरो से बेहतरीन नक्कासी के साथ बनाया गया है। यह मंदिर 23 एकर में फैला हुआ है जिसमे एक गार्डन भी है जिसका नाम सहजानंद वन है और सबसे बेहतरीन तो सात-चित वाटर शो है। यहां जिसको देखकर हर श्रद्धालु भाव बिभोर हो जाता है इस मंदिर को जनता के लिए वर्ष १९९२ में खोला गया था और बताता चलूँ की मंदिर के खुलने के 10 साल बाद ही वर्ष 2002 में इस मंदिर पर आतंकियों द्वारा हमला किया गया जिसमे 33 लोगो की मौत हो गयी और 70 लोगो को बंधक बनाया गया था जिनको NSG ने सारे आतंकियों को ख़तम कर के बंधकों को छुड़ाया और इस हमले के बाद से इन मंदिरो की सुरक्षा CRPF के हाथो में दे गयी। वही अगर बात की जाये दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर की तो यह मंदिर वर्ष 2005 में जनता के लिए खोला गया यह मंदिर भी गांधीनगर गुजरात मंदिर के रूप रेखा पर ही बनाया गया है इस मंदिर के प्रांगण में योगी हृदय कमल गार्डन है जिसकी खूबशूरती बेमिशाल है मंदिर के अंदर अलग अलग भगवान की मूर्तियों के साथ नक्कासिया ऐसी है। की जिसको आपने कभी देखा न होगा वही मंदिर का म्यूजिकल फाउंटेन शो शाम को 7 बजे शुरू होता जिसको देखने के लिए आपको 6:30 से पहले पहुंचना होता है क्यों की 6 बजे के बाद मंदिर के कपाट बंद हो जाते और 6:30 के बाद आपको शो का टिकट मिलना मुश्किल होगा बताते चलें की मंदिर को देखने और प्रांगण की भव्यता को जानने और घूमने के लिए कोई टिकट नहीं लगता मंदिर परिसर में आप प्रसाद ले सकते है और शॉपिंग भी कर सकते है वही फ़ूड कोर्ट्स में आप बेहतरीन व्यंजनों का लुत्फ़ भी उठा सकते है। अगर आप भी अक्षरधाम मंदिर घूमने जा रहे है , तो जितना कम सामान हो सके वो ले जाये और मोबाइल या कोई इलेक्ट्रॉनिक गैजेट ले जाना अवॉयड करे क्योकि सारी वस्तुएं आपको सिक्योरिटी चेक से पहले जमा करना होगा, मंदिर परिसर में फोटोग्राफी निषेध है , अगर आप फोटो क्लिक करवाना चाहते है तो मंदिर परिसर में यह व्यवस्था उपलब्ध है जहां आप पेमेंट कर के तुरंत फोटो प्राप्त कर सकते है। दुनिया का सबसे बड़ा हिन्दू धर्म का आधुनिक मंदिर भी बन चूका है जिसके बारे में हमने शुरुआत में बताया था जो की अमेरिका में है बताते चले इतिहास का सबसे बड़ा हिन्दू मंदिर अंकोर वाट, कम्बोडिया में है जो की भगवान् विष्णु को समर्पित मंदिर है और यह मंदिर लगभग 450 एकर में फैला हुआ है। अगर आप भी इन मंदिरो की भव्यता को देखना चाहते है और इनकी आध्यात्मिकता से जुड़ना चाहते है तो आपको इनके दर्शन के लिए जरूर जाना चाहिए।

ऐसेही रोचक जानकारी के लिए जुड़े रहिये भाईसाब के साथ ।

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.