Home Gali Nukkad जल रहा है संदेशखाली | Tensions Rise Amid Women’s Protest in Sandeshkhali

जल रहा है संदेशखाली | Tensions Rise Amid Women’s Protest in Sandeshkhali

0 comment
Tensions Rise Amid Women's Protest in Sandeshkhali

भाईसाब, क्या आपको पता है, पश्चिम बंगाल का संदेशखाली इलाका आज पूरे देश में चर्चा का विषय बना हुआ है, आज संदेशखाली महिलाओं के आंदोलन की वजह से जल रहा है, यहां की महिलाओं के विद्रोह ने बंगाल सरकार की नींद उड़ा दी है, आरोप एक TMC नेता पर लगा है, जिसने यहां की महिलाओं के यौन उत्पीड़न किया है, वहीं अब बीजेपी ने भी मुद्दे को भुनाते हुए जांच के लिए अपने स्तर पर कमेटी बना दी है.

भाईसाब, पश्चिम बंगाल के संदेशखाली में महिलाओं ने विरोध प्रदर्शन शुरू किया है, विरोध प्रदर्शन इसलिए किया जा रहा है क्योंकि उन्हें TMC नेता शेख शाहजहां के खिलाफ एक्शन चाहिए, शाहजहां पर महिलाओं के साथ यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगा है, जमीनों को अवैध तरीके से हड़पने को लेकर भी कई आरोप लगा दिए गए हैं, भाईसाब, ये मामला तब लाइमलाइट में आया जब ED राशन भ्रष्टाचार मामले में शाहजहां के खिलाफ कार्रवाई कर रही थी, रेड मारने के लिए उनके घर तक पहुंची, लेकिन वहां पर महिलाओं ने एक दूसरे ही मुद्दे को लेकर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया, वहीं महिलाओं ने बताया कि शाहजहां और उनके समर्थकों ने उनका यौन उत्पीड़न किया, बाद में एक आरोप ये और जुड़ गया कि शाहजहां और उसके साथियों ने एक बड़ा पॉल्ट्री फॉर्म बनाया, लेकिन वो भी गांव वालों की जमीन छीनकर किया गया। भाईसाब, सवाल ये उठता है कि क्या सिर्फ नेता पर आरोप या कोई और भी शामिल? तो बता दें कि शाहजहां के साथ TMC के ही शिबू हाजरा पर भी यौन उत्पीड़न के आरोप लगे हैं, नाराज महिलाओं ने उन्हीं के पॉल्ट्री फॉर्म में आग भी लगा दी थी, दूसरी ओर खुद शिबू ने इसे बीजेपी और लेफ्ट का षड्यंत्र बता दिया है, महिलाएं लगातार नेता और उसके सहयोगियों को गिरफ्तार करने की मांग कर रही हैं और लगातार विरोध प्रदर्शन कर रही हैं, भाईसाब, एक प्रदर्शनकारी महिला ने हैरान कर देने वाला आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस के लोग गांव में घर-घर जाकर सर्वे करते हैं, किसी घर में कोई सुंदर महिला या लड़की दिखती है तो उसे पार्टी ऑफिस ले जाया जाता है, फिर उस महिला को कई रातों तक वहीं रखा जाता है। भाईसाब, आपको बताना जरूरी है कि बंगाल के राज्यपाल सीवी आनंद बोस ने SIT का गठन भी कर दिया है, गृह मंत्रालय को भी पूरे मामले की एक विस्तृत रिपोर्ट भेज दी गई है, राज्यपाल के मुताबिक स्थानीय पुलिस जांच करने के बजाय वहां के लोगों को परेशान कर रही है, दूसरी ओर DIG-CID के नेतृत्व में राज्य महिला आयोग ने प्रदर्शनकारी महिलाओं से पूछताछ की, पुलिस ने बताया कि पूछताछ में किसी भी महिला ने बलात्कार की कोई शिकायत नहीं की, सभी आरोप और शिकायतों की विधिवत जांच की जाएगी, आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू की जाएगी, बता दें कि राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी घटनास्थल का दौरा किया, लेकिन राष्ट्रीय महिला आयोग ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया कि टीएमसी नेताओं ने महिलाओं का उत्पीड़न किया है, कई महिलाओं की शिकायत की हैं, ये नेता महिलाओं से उनकी जमीन छीन लेते हैं या फिर उनके घर के पुरुष सदस्यों को जबरन गिरफ्तार करते हैं। भाईसाब, उधर, सियासत गरमाई हुई है, पश्चिम बंगाल राजनीतिक दलों के लिए अखाड़ा बन चुका है, भाजपा और टीएमसी के बीच महिलाओं द्वारा लगाए गए आरोपों के बाद एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप का दौर लगातार जारी है। इस मामले में बीजेपी ने आक्रमक रुख अपना रखा है, जेपी नड्डा ने केंद्रीय मंत्री अन्नपूर्णा देवी की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया है। भाईसाब, इस बीच खबर आ रही है कि संदेशखाली की पीड़िताओं के लिए बंगाल के राजभवन के दरवाजे खोल दिए गए हैं, यहां Peace Home खोला गया है, जो पीड़िताएं वहां नहीं रह पा रही हैं, वे यहां आना चाहती हैं तो आकर रुक सकती हैं, 3 कमरे अलॉट किए गए हैं, यहां पर रहना, खाना-पीना निशुल्क होगा, राजभवन की तरफ से सभी व्यवस्थाएं मुहैया कराई जा रही हैं, इतना ही नहीं, राजभवन के अंदर पीड़िताओं को मदद भी मिलेगी, महिला कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। भाईसाब, ताजा घटनाक्रम में संदेशखाली केस को लेकर कलकत्ता हाईकोर्ट की डिवीजन बेंच ने बंगाल सरकार को फटकार लगाई है, कोर्ट ने कहा है कि शुरुआती तौर पर ये साफ है कि टीएमसी नेता शाहजहां ने लोगों को नुकसान पहुंचाया, जिस शाहजहां पर रेप और जमीन हड़पने के आरोप हैं, ऐसा लगता है कि वो पुलिस की पहुंच से बाहर है, भाईसाब कोर्ट ने कहा है कि यह चौंकाने वाला है कि समस्या की जड़ में मौजूद एक आदमी अभी तक पकड़ा नहीं जा सका है, अगर उसके खिलाफ हजारों झूठे आरोप हैं, लेकिन इनमें अगर एक भी आरोप सही है तो आपको उसकी जांच करनी चाहिए, आप बेवजह लोगों को परेशान कर रहे हैं। दूसरी ओर भाईसाब, जब भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी संदेशखाली जाने के लिए निकले तो पुलिस ने उन्हें धमखाली में रोक लिया, शुभेंदु अधिकारी यहीं धरने पर बैठ गए, उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस ने कलकत्ता हाईकोर्ट के आदेश का उल्लंघन किया है।

चलते-चलते भाईसाब, आपको बताना जरूरी है कि संदेशखाली मामले की सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई, इसमें कोर्ट ने महिलाओं के यौन उत्पीड़न मामले की जांच CBI या SIT से कराने की याचिका को खारिज कर दिया था, कोर्ट ने यह भी कहा कि कलकत्ता हाईकोर्ट ने मामले का स्वत: संज्ञान लिया है, इसलिए फैसला भी हाईकोर्ट ही देगा, उधर शाहजहां शेख फरार है, किसी को भी नहीं पता शाहजहां शेख कहां है, ED की ओर से समन भेजने के बावजूद पेश नहीं हुए.

banner

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.