Home Safarnama पूर्वांचल एक्सप्रेसवे : उत्तर प्रदेश

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे : उत्तर प्रदेश

0 comment

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे भारत के उत्तर प्रदेश राज्य में एक 340.8 किलोमीटर लंबा 6-लेन का (प्रत्येक दिशा में 3-लेन) एक्सप्रेसवे है जिसे आठ लेन तक बढाये जा सकने लायक बनाया गया है। 2021 तक यह भारत का सबसे लंबा एक्सप्रेसवे है। एक्सप्रेसवे पूर्व में गाजीपुर शहर से राज्य की राजधानी लखनऊ के गोसाईगंज (चांद सराय) गाँव को (आजमगढ़ और अयोध्या के माध्यम) से जोड़ेता है। इसे उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण द्वारा ₹22,494 करोड़ की लागत जिसमें भूमि अधिग्रहण का मूल्य भी शामिल है से विकसित किया गया है। सुल्तानपुर में कुरेभार नामक स्थान पर इस एक्सप्रेसवे पर 3.2 किमी लंबी हवाई पट्टी भी है जिसपर वायुसेना के लड़ाकू विमान और भारी कार्गो विमान जैसे हर्क्युलीज सी २४ भी उतर सकते हैं और आपातकाल में उड़ान भर सकते हैं। यह एक्सप्रेसवे लखनऊ से गाजीपुर के बीच 9 जिलों से होकर गुजरेगा जिनमें प्रमुख हैं- लखनऊ से शुरु होकर बाराबंकी, अमेठी, सुल्तानपुर, अयोध्या, अंबेडकरनगर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर में समाप्त हो जाएगा। एक्सप्रेसवे को वाराणसी – गोरखपुर राजमार्ग के साथ एक अलग लिंक सड़क के माध्यम से जोड़ा जाना है।
जानते है पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के कुछ प्रमुख तथ्यों के बारे में :
इसकी कुल लंबाई: 340.8 किलोमीटर है ।इस एक्सप्रेस वे कुल 6 लेन है और इसे बनाने के लिए कुल ₹22,494 करोड़ की लागत लगी है ।पूर्वांचल एक्सप्रेसवे की शुरूआत अक्टूबर २०१८ को हुयी और उद्घाटन 16 नवंबर २०२१ को किया गया I

एक्सप्रेसवे से गुजरने वाले जिले: लखनऊ, बाराबंकी, अमेठी, सुल्तानपुर, अयोध्या, अंबेडकरनगर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर इन जिलों से यह एक्सप्रेस वे गुजरता है I

एक्सप्रेसवे का प्रमुख उद्देश्य ‘उत्तर प्रदेश के पूर्वी क्षेत्र को दिल्ली और अन्य प्रमुख शहरों से जोड़ना’ यह है I एक्सप्रेसवे से बजट तरह के लाभ प्राप्त हुए है जैसे के :यातायात में कमी,समय की बचत,माल ढुलाई की लागत में कमी,आर्थिक विकास को बढ़ावा,पर्यटन को बढ़ावा देना ।
अब जानते है पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के महत्व के बारे में ,
पूर्वांचल एक्सप्रेसवे उत्तर प्रदेश के पूर्वी क्षेत्र के लिए एक महत्वपूर्ण परियोजना है। यह क्षेत्र पहले से ही औद्योगिक विकास के लिए एक प्रमुख केंद्र है, और एक्सप्रेसवे से इस क्षेत्र में और अधिक निवेश को आकर्षित करने में मदद मिलेगी। एक्सप्रेसवे भी इस क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा देगा, जिससे स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे।
पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का एक अन्य महत्वपूर्ण लाभ यह है कि यह यातायात में कमी करेगा। वर्तमान में, उत्तर प्रदेश के पूर्वी क्षेत्र में यातायात का बहुत अधिक दबाव है, और एक्सप्रेसवे से इस दबाव को कम करने में मदद मिलेगी। इससे समय और ईंधन की बचत होगी, और प्रदूषण भी कम होगा।
कुल मिलाकर, पूर्वांचल एक्सप्रेसवे उत्तर प्रदेश के पूर्वी क्षेत्र के लिए एक महत्वपूर्ण परियोजना है। यह क्षेत्र को दिल्ली और अन्य प्रमुख शहरों से जोड़ेगा, और आर्थिक विकास को बढ़ावा देगा। यह क्षेत्र में पर्यटन को भी बढ़ावा देगा, जिससे स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे।
ऐसेही रोचक जानकारी के लिए जुड़े रहिये भाईसाब के साथ।

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.