Home Haal-khayal मेडिकल टूरिज्म और भारत में मेडिकल शिक्षा ।

मेडिकल टूरिज्म और भारत में मेडिकल शिक्षा ।

0 comment

नमस्कार भाई साब !बात करते है मेडिकल टूरिज्म और भारत में मेडिकल शिक्षा के विषय पर ,
जानते है MBBS में एडमिशन प्राप्त करने की प्रक्रिया ,
भारत में हर साल लाखों छात्र डॉक्टर बनने का सपना देखते हैं, लेकिन केवल कुछ ही छात्र एमबीबीएस प्रवेश सुनिश्चित कर पाते हैं। भारत के प्रसिद्ध मेडिकल कॉलेज में सीट पाने के लिए हर साल 18 लाख से अधिक उम्मीदवार प्रतिस्पर्धा करते हैं। एमबीबीएस में प्रवेश पाने वाले उम्मीदवारों के सामने सबसे पहली चुनौती नीट के लिए क्वालीफाई करना है।

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी वर्ष में एक बार NEET परीक्षा आयोजित करती है। NEET-UG भारत में MBBS प्रवेश के लिए आयोजित एक मात्र राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा है, जिसे भारत के सर्वोच्च न्यायालय द्वारा मान्यता प्राप्त है। नीट परीक्षा के माध्यम से एम्स संस्थानों में 2,000 से अधिक एमबीबीएस सीटों प्रवेश दिया जाता है। कुल 600+ मेडिकल कॉलेज, 15+ एम्स और 2 जिपमर संस्थान नीट के परिणामों के आधार पर एमबीबीएस कोर्स में प्रवेश प्रदान करते हैं। एमबीबीएस सीटों और परीक्षा में बैठने वाले उम्मीदवारों की संख्या में अगर तुलना की जाये तो जमीं आसमान का फर्क है इसलिए सरकारी संस्थानों की सीटों पर एडमिशन पाने के लिए परीक्षार्थियों को अत्यधिक प्रतिस्पर्धा का सामना करना पडता है
कई छात्र जो कम अंकों के साथ नीट परीक्षा परीक्षा उत्तीर्ण करते हैं, उन्हें सरकारी मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश पाने के लिए संघर्ष करना पड़ता है। जबकि प्राइवेट एमबीबीएस कॉलेजों की फीस बहुत ज्यादा होती है। भारत में उच्च ट्यूशन फीस के कारण मध्यम वर्ग के कई छात्र एमबीबीएस में प्रवेश पाने के लिए संघर्ष करते हैं। इन छात्रों की एकमात्र उम्मीद अच्छे अंकों के साथ नीट परीक्षा में अहर्ता प्राप्त करना है।

मेडिकल काउंसलिंग कमेटी एमबीबीएस एडमिशन की आगे की प्रक्रिया का आयोजन करती है , और परीक्षार्थियों को उनके मनपसंद कॉलेज में एडमिशन की प्रक्रिया को पूरी करवाती है ।
भारत पूरी दुनिया में मेडिकल टूरिस्म के मामले में ७ वे नंबर पर है और लगभग हर साल 5 लाख से ज्यादा foreigners भारत आ कर अपना इलाज करवाते हैं और इनमे टर्की , बांग्लादेश , अफ़ग़ानिस्तान , ओमान , इराक , मालदीव्स , नाइजीरिया ,और केन्या जैसे देश प्रमुख हैं जहा से मरीज आ कर भारत में सस्ता इलाज पाते हैं और इस मेडिकल टूरिज्म के माध्यम से भारत को लगभग ६ बिलियन डॉलर की हर साल आमदनी होती हैं मगर अभी भी मेडिकल के क्षेत्र हमे और काम करने की जरुरत हैं ताकि हम गरीब और लौ इनकम वाले लोगो को अच्छा इलाज दे सकें इसी को ध्यान में रख कर सरकार ने आयुष्मान योजना जैसा सराहनीय कदम उठाया हैं ।

ऐसेही और जानकारी के लिए जुड़े रहिये भाईसाब के साथ ।

banner

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.