Home Latest भारत से पंगा लेना मालदीव को महंगा पड़ा | Maldives loses millions in travel bookings

भारत से पंगा लेना मालदीव को महंगा पड़ा | Maldives loses millions in travel bookings

0 comment
Maldives loses millions in travel bookings

भाईसाब, क्या आपको पता है, पूरी दुनिया में फिर एक भारत का डंका बज गया,आप सोच रहे होंगे ऐसा क्या हो गया, तो हम आपको बता दें कि, मालदीव के 3 मंत्रियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ अशोभनीय टिप्पणी की थी, जिसकी दुनिया भर में आलोचना हो रही है और सोशल मीडिया पर #BycottMaldives काफी ट्रेंड हो रहा है, इसके बाद मालदीव की मुइज्जू सरकार शर्म के मारे हरकत में आई और अपने तीनों मंत्रियों को बर्खास्त करना पड़ा. तो आज के इस वीडियों में हम इस पूरे मामले को लेकर चर्चा करेंगे.

मालदीव को भारत के साथ पंगा लेना बहुत महंगा पड़ा, क्योंकि मोदी के खिलाफ टिप्पणी करने से मालदीव अर्थव्यस्था पर सीधे असर होने वाला है, आज पूरा देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ खड़ी है. हम आपको बता दें कि मोदी के हालिया लक्षद्वीप दौरे के बाद से मालदीव को मिर्ची लग गई थी। पीएम मोदी की तरफ से लक्षद्वीप यात्रा की तस्वीरें पोस्ट करने के बाद मालदीव की उपमंत्री मरियम शिउना ने मोदी के लिए ‘जोकर’ और ‘इजरायल की कठपुतली’ जैसे शब्दों का प्रयोग किया था। विवाद बढ़ने के बाद उन्होंने ये ट्वीट हटा दिए थे। लेकिन इस टिप्पणी पर विवाद बढ़ा और शिउना को सस्पेंड कर दिया गया और साथ ही दो और मंत्रियों माल्शा और हसन जिहान को भी सस्पेंड किया गया है. भाईसाब शिउना की पीएम मोदी पर की गई टिप्पणी से भड़की आग भारत तक फैल चुकी है। इस मामले में भारतीय उच्चायोग ने मुइज्जू सरकार के समक्ष इस मामले को प्रमुखता से उठाया और बयान पर कड़ा विरोध दर्ज किया था। शिउना की मुइज्जू सरकार के गले की फांस बन गई है,और दुनियाभर में मालदीव की कड़ी आलोचना की जा रही है। भारत में #BycottMaldives सोशल मीडिया पर काफी ट्रेंड हो रहा है। कई भारतीय बॉलीवुड सेलिब्रेटी भी मालदीव के बहिष्कार के पक्ष में सामने आए हैं। अब बैकफुट में आया मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद ने मंत्री की टिप्पणी की निंदा की और भारत को मालदीव की सुरक्षा और समृद्धि का “प्रमुख सहयोगी” बताया। उधर, भारतीय उच्चायोग ने कहा कि इस तरह के बयान से दोनों देशों के बीच संबंधों पर असर पड़ सकता है। वहीं बयान विवाद पर मालदीव के पूर्व उपराष्ट्रपति अहमद अदीब ने कहा, “यह बहुत दुखद घटना है, जो नहीं होनी चाहिए थी। जब आप एक निर्वाचित पद पर होते हैं, तो आपको अधिक जिम्मेदार होना होगा और साथ ही वैश्विक नेता प्रधानमंत्री मोदी के प्रति ये अपमानजनक टिप्पणियां स्वीकार्य नहीं हैं।” अब आपको बताते हैं कि मालदीव को इसके क्या परिणाम भुगतने होंगे, तो भाईसाब, इसका सीधा असर मालदीव की टूरिज्म इंडस्ट्री पर पड़ेगा, क्योंकि दुनिया में भारत ही ऐसा देश है जहां के लोग सबसे ज्यादा मालदीव घूमने जाते हैं, पर्यटन मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, दिसंबर 2023 तक मालदीव आने वाले पर्यटकों में भारतीयों की संख्या सबसे अधिक थी. मालदीव के टूरिज्म मिनिस्ट्री के आंकड़े बताते हैं कि 13 दिसंबर 2023 तक यहां कुल 17,57,939 पर्यटक पहुंचे. यह संख्या 2022 में दर्ज 1.5 मिलियन की तुलना में 12.6 प्रतिशत अधिक है. इसके बाद रूस,चीन,ब्रिटेन आदि देशों का आता है.

चलते-चलते, आपको बता दें कि अब मालदीव का भारत विरोधी कमेंट के बाद, इसे देखते हुए भारत में मालदीव और उसके पर्यटन स्थलों के बहिष्कार की मांग जोर पकड़ चुकी है. कई मशहूर हस्तियों और सोशल मीडिया इंफ्लूएंसर्स ने इसका समर्थन किया है. भारतीयों ने इसका करारा जवाब देते हुए #bycottmaldives ट्रेंड कराया और लोग पहले से तय अपनी मालदीव की यात्राओं को कैंसिल कर रहे हैं.

banner

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.