Home Teej Tyohhar पुष्कर मेला : राजस्थान | World’s Largest Camel Fair

पुष्कर मेला : राजस्थान | World’s Largest Camel Fair

0 comment

भाईसाब, क्या आपको हैरान कर देने वाली खबर के बारे में पता है, हम बताते हैं आपको, राजस्थान के पुष्कर मेले में एक घोड़े की कीमत 11 करोड़ रुपए रखी गई है। यह घोड़ा महाराणा प्रताप के प्रसिद्ध घोड़े चेतक की नस्ल का बताया जाता है, और इस तरह की आश्चर्य जनक खबरें इस वक्त राजस्थान के अजमेर में चल रहें पुष्कर मेले से आ रही हैं। इस मेले में भारी संख्या में देश-विदेश के सैलानियों की भीड़ उमड़ रही है। इसलिए रेलवे ने यात्रियों को राहत देने के लिए तीन नई ट्रेनों का संचालन किया है।

आज के इस लेख में हम पुष्कर मेले की रोचक घटनाओं का खुलासा करेंगे। यहाँ हम राजस्थान के पुष्कर मेले के बारे में जानेंगे, जो दुनिया का सबसे अनूठा मेला माना जाता है, जिसे देखने दुनिया भर के लोग एकत्रित होते है। इस मेले में राजस्थान की कालजयी संस्कृति की झलक देखने को मिलती है। राजस्थान के पुष्कर मेले को सबसे बड़ा ऊंट फेस्टिवल भी कहा जाता है। इस साल यह मेला 27 नवंबर तक चलेगा।
भाईसाब, आपकी जानकारी के लिए ये जानना जरूरी है कि इस साल पुष्कर मेला में लगान स्टाइल क्रिकेट मैच भी दखने को मिला है और यहां मूंछ की प्रतियोगिता तो अद्वितीय होती है, यहां के लोग अपनी मूंछों के स्टाइल और लंबाई को इस मेला में दिखाते हैं। इसके अलावा यहां पर पगड़ी बांधने का कॉम्पिटिशन और घोड़ों का डांस भी हाता है। ऊंट सजाने और उनकी डांस प्रतियोगिता होती है। अगर आपको हॉट एयर बैलून का लुफ्त उठाना है तो यहां आ सकते हैं।
भाईसाब, मान्यता है कि कार्तिक माह की एकादशी से पूर्णिमा तक 5 दिनों तक भगवान ब्रह्मा ने पुष्कर में यज्ञ किया था। इस दौरान 33 करोड़ देवी-देवता भी पृथ्वी पर मौजूद रहे। इसी वजह से पुष्कर में कार्तिक माह की एकादशी से पूर्णिमा तक का विशेष महत्व है। भाईसाब, यहां रहने वाले लोकल लोगों का दावा है कि इस मेले का आयोजन 100 साल से भी पहले से चला आ रहा है। इस मेले में आसपास के ग्रामीण धार्मिक अनुष्ठान, लोक संगीत और नृत्य करके यहां समृद्ध हिंदू संस्कृति का जश्न मनाते हैं। रेगिस्तान की वजह से पुष्कर मेले में ऊंट का भी महत्व बढ़ जाता है। यहां ऊंट को बड़ी ही खूबसूरती से सजाया जाता है और उनके गले में घंटियां लटकायी जाती हैं। यहां जानवरों को उनकी कड़ी मेहनत के लिए सम्मानित भी किया जाता है। यह सबसे बड़ा पशु मेला भी है। देश से लेकर विदेशियों तक के आकर्षण का केंद्र है।
भाईसाब, आपको बताना जरूरी है कि इस पुष्कर मेले में कर्मदेव नामक घोड़ा, सबके लिए खास आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। 11 करोड़ रुपए की कीमत वाले इस घोड़े की जमीन से पीठ तक उंचाई 71 इंच है। यह भारत का सबसे ऊंचा अश्व है। हैरान करने वाली बात ये है कि इस घोंड़े की खुराक पर हर रोज 1,000 रुपए खर्च आता है। उसे कैल्शियम, मल्टीविटामिन भी दिए जाते हैं। 3 साल का यह घोड़ा अनेक शो जीत चुका है। भाईसाब, आपको बता दें कि इस मेले में ऐसे भी घोड़े हैं जिनके दाम 5 लाख से ऊपर है। यदि आपको घोड़े में दिलचस्पी नहीं है तो इस मेले में ‘अनमोल’ नामक भैंसा भी है जो मुर्रा जाति का 5 फुट 8 इंच ऊंचा है। इसकी कीमत भी 11 करोड़ रुपए रखी गई है। इसे पालने पर हर महीने ढाई से 3 लाख रुपए खर्च आता है। इसके मालिक हरविंदर के अनुसार इसे रोज 1 किलो मक्खन, 5 लीटर दूध, 1 किलो काजू बादाम, चने और सोयाबीन की खुराक दी जाती है। 2 लोग हमेशा इस भैसे की देखरेख में तैनात रहते हैं। इस भैंसे का आकार यमराज के भैंसे जितना विशाल है। भाईसाब, यह कहना अतिशयोक्ति न होगी कि इस मेले में कृषिविद्, किसान, पशुपालक और डेयरी उद्योग से जुड़े लोग मवेशियों और ऊंटों को बेचने और खरीदने के लिए आते हैं। इस मेले में लोक संगीत और नृत्य का आयोजन होता है। देस के कई फ्यूजन बैंड यहां परफॉर्म करने आते हैं। कई रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। इस मेले में कैंपिंग और हॉट एयर बैलून की सवारी का अपना ही मजा होता है। ऊंट के डेजर्ट सफारी का आनंद उठाने भी लोग पुष्कर मेला देखने पहुंचते हैं।

अंत में भाईसाब, बात पते कि बताते है आपको, वो ये है कि, पुष्कर का पशुमेला प्रतिवर्ष चर्चा में रहता है। आज की दुनिया में कितने ही काबिल इंसानों की सही कीमत नहीं लगाई जाती लेकिन किस्मतवाले जानवरों की कद्र जरूर होती है। वहीं भाईसाब इस मेला को देखने का प्लान बना रहे हैं तो जान लें कि आपको अजमेररेलवे स्टेशन से 30 मिनट की दूरी पर है पुष्कर मेला देखने को मिलेगा। आप किसी भी रेलवे स्टेशन से अजमेर तक के लिए टिकट ले सकते हैं। अगर आप फ्लाइट के जरिए यहां आ रहे हैं, तो जयपुर हवाई अड्डे तक आपको टिकट लेना होगा। मेला यहां से 140 किलोमीटर की दूरी पर है। इसके सिवा आप यहां बस की मदद से भी जा सकते हैं।
तो भाईसाब, ये थी जानकारी राजस्थान में चल रहे पुष्कर मेले की, आशा करते हैं कि यह जानकारी आपको जरूर पसंद आई होगी, ऐसे ही अन्य रोचक जानकारी के लिए जुड़े रहें भाईसाब के साथ, धन्यवाद!

banner

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.