Home Latest खालिस्तानी चरमपंथियों ने भारतीय राजनयिक को ब्रिटेन के गुरुद्वारे में प्रवेश करने से रोका ।

खालिस्तानी चरमपंथियों ने भारतीय राजनयिक को ब्रिटेन के गुरुद्वारे में प्रवेश करने से रोका ।

0 comment

खालिस्तानी चरमपंथियों ने भारतीय राजनयिक को ब्रिटेन के गुरुद्वारे में प्रवेश करने से रोका ब्रिटेन में भारतीय उच्चायुक्त विक्रम दोरईस्वामी को खालिस्तानी चरमपंथियों ने स्कॉटलैंड के एक गुरुद्वारे में प्रवेश करने से रोक दिया । यह घटना कनाडा द्वारा भारत पर आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या में शामिल होने का आरोप लगाने को लेकर विवाद के बीच सामने आई है । सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक कथित वीडियो के अनुसार, खालिस्तान समर्थक एक कार्यकर्ता को अल्बर्ट ड्राइव पर ग्लासगो गुरुद्वारे में प्रवेश करने से श्री दोराईस्वामी को रोकते हुए देखा गया था । वीडियो में पार्किंग क्षेत्र में उच्चायुक्त की कार के पास दो लोगों को दिखाया गया है । उनमें से एक को कार का दरवाज़ा खोलने की कोशिश करते हुए देखा जाता है, जो अंदर से बंद है । इसके बाद उच्चायुक्त की कार गुरुद्वारा परिसर से निकल जाती है । गुरुद्वारा प्रबंध समिति ने भारतीय उच्चायुक्त को आमंत्रित किया था। कथित वीडियो के एक लंबे संस्करण में खालिस्तानी चरमपंथियों को गुरुद्वारा प्रबंध समिति के कर्मचारियों को भी धमकी देते हुए दिखाया गया है । भारत सरकार की ओर से तत्काल कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। चूंकि मामला उच्चायुक्त की सुरक्षा से जुड़ा है, इसलिए सूत्रों का कहना है कि पुलिस में शिकायत दर्ज करायी गयी है। कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने जब आरोप किया उसके के बाद विवाद खड़ा हो गया ।ट्रुडो ने आरोप लगाया था के, आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या में” भारत सरकार के एजेंट” शामिल थे । भारत ने ट्रूडो के आरोपों को” बेतुका” बताते हुए खारिज कर दिया । ट्रूडो ने भारत के खिलाफ अपने आरोप का समर्थन करने के लिए कोई सबूत पेश नहीं किया है, लेकिन रिपोर्टों में कहा गया है कि यह अमेरिका, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड सहित एक खुफिया गठबंधन के बीच एक साझा जानकारी थी । भारत ने इस आरोप को खारिज करते हुए कनाडा पर आतंकियों को सुरक्षित पनाहगाह मुहैया कराने का आरोप लगाया है। दिल्ली में जी20 शिखर सम्मेलन से इतर एक द्विपक्षीय बैठक के दौरान प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कनाडा में बढ़ती अलगाववादी गतिविधियों पर ट्रूडो को डांटे जाने के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव पैदा हो गया था । 2018 में, भारत ने कथित तौर पर उन्हें नौ खालिस्तानी गुर्गों की एक सूची सौंपी थी ।

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.