Home Dharohar दुनिया का अद्भुत, अनोखा मंदिर होगा कल्कि धाम | Kalki Dham: Unique Temple of Tomorrow

दुनिया का अद्भुत, अनोखा मंदिर होगा कल्कि धाम | Kalki Dham: Unique Temple of Tomorrow

0 comment
Kalki Dham: Unique Temple of Tomorrow

भाईसाब, क्या आपको पता है, उत्तर प्रदेश के संभल जिले में कल्कि धाम मंदिर बनने जा रहा है, जिसकी आधारशिला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रखी, बता दें कि कल्कि भगवान विष्णु के दसवें अवतार हैं, जिनका जन्म कलयुग के अंतिम चरण में होगा, 118 फीट ऊंचे कल्कि धाम मंदिर में राजस्थान के गुलाबी पत्थर का इस्तेमाल होगा, आपको बता दें कि इन्हीं पत्थरों से अयोध्या में श्रीराम का मंदिर बना है, आज के इस वीडियो में हम संभल जिले में बनने जा रगे कल्कि धाम मंदिर के बारे में प्रकाश डालेंगे और ये भी बताएंगे कि भगवान कल्कि हैं कौन.

नमस्कार भाईसाब, कल्कि धाम मंदिर में पूरे 10 गर्भगृह होंगे, सभी गर्भगृह में भगवान विष्णु के 10 अवतारों की स्थापना होगी,भाईसाब, आपको गर्व महसूस होगा कि यह दुनिया का अद्भुत व अनोखा मंदिर होगा जिसके शिखर की ऊंचाई 108 फीट और 11 फीट के ऊपर मंदिर का चबुतरा बनेगा, अयोध्या राम मंदिर की तरह इस मंदिर के निर्माण में भी लोहा या स्टील जैसे धातु का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा। भाई, अब आप ये जानने को उत्सुक होंगे भगवान कल्कि हैं कौन, तो बता दें कि श्रीमद्भगवद्गीता पुराण के 12वें स्कंध में कलयुग के अंत और सतयुग के संधि काल में भगवान के कल्कि अवतार के बारे में बताया गया है, पुराण के अनुसार, संभल में भगवान विष्णु के दसवें कल्कि अवतार का जन्म विष्णुयश नाम के श्रेष्ठ ब्राह्मण के पुत्र के रूप में होगा, मान्यता है कि कल्कि अवतार को स्वयं भगवान परशुराम खड्ग देंगे और देव गुरु बृहस्पति द्वारा इनकी शिक्षा-दीक्षा होगी, धार्मिक ग्रंथों के अनुसार, कलयुग में जब पाप और अन्याय अपने चरम पर होगा तब पापियों के सर्वनाश के लिए भगवान विष्णु के दसवें कल्कि अवतार का जन्म होगा, भाईसाब, आपको मालूम होना चाहिए कि जब-जब संसार में पाप और अन्याय बढ़ा है तब-तब भगवान विष्णु ने अलग-अलग अवतार में जन्म लेकर संसार को बचाया है. भाईसाब, आपको एक खास जानकारी दे दें कि भगवान कल्कि जन्म से ही 64 कलाओं से युक्त होंगे, स्पष्ट है कि उनके जन्म के समय सभी ग्रह उच्च अवस्था में या मूल त्रिकोण में होंगे, मान्यता है कि कलयुग के अंत में भगवान कल्कि देवदत्त नाम के घोड़े पर सवार होकर तलवार से दुष्टों का संहार करेंगे, इसके बाद सतयुग का प्रारंभ होगा। चलते-चलते, भाईसाब आपको बताना जरूरी है कि कल्कि धाम मंदिर के पीठाधीश्वर आचार्य प्रमोद कृष्णम हैं, उन्होंने संभल में भव्य कल्कि मंदिर बनवाने का संकल्प लिया था, जो कल्कि धाम के मुख्य पुजारी भी हैं, वह 15 साल से अधिक समय से कल्कि धाम से जुड़े हुए हैं, कुछ ही दिन पहले उन्होंने कांग्रेस के साथ अपने 40 साल पुराने जुड़ाव को ये कहते हुए खत्म कर लिया था कि राम और राष्ट्र के साथ समझौता नहीं किया जा सकता।

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.