Home Latest हमास की सुरंगों के आगे बेबस इजराइल : | Israel vs Hamas |

हमास की सुरंगों के आगे बेबस इजराइल : | Israel vs Hamas |

0 comment

भाईसाब…हमास-इजराइल के बीच भीषण लड़ाई जारी है। लेकिन…भाईसाब…क्या आपको पता है…! गाजा पट्टी के नीचे एक और शहर बसा हुआ है। ये नजरों से नजर नहीं आता है। और वो है 500 किलोमीटर में फैला 1300 सुरंगों का नेटवर्क। आमतौर पर ये सुरंगें 30 मीटर तक गहरी होती हैं। लेकिन कुछ-कुछ सुरंगें 70 मीटर तक गहरी हैं। इन सुरंगों को इजरायली बमबारी से बचाने के लिए मजबूत कंक्रीट का इस्तेमाल किया गया है। इन सुरंगों में बिजली भी है। यही सुरंगें अब इजरायली डिफेंस फोर्स (आईडीएफ) के लिए सबसे बड़ा खतरा बन गईं हैं। सात अक्टूबर को हमास के हमले के बाद से इजरायली सेना इन्हीं सुरंगों के कारण गाजा पट्टी पर जमीनी हमला करने से बच रही है। इस संघर्ष में अब तक हजारों लोगों की जान चली गई है। हालांकि, सब कुछ यहीं नहीं रुकने वाला नहीं है। जहां हमास बंधकों को छोड़ने के लिए इजराइल की ओर से हमले बंद करने की बात कर रहा है, वहीं इजराइल हमास को तबाह करने के लिए जमीनी हमले की तैयारी कर रहा है।
आज हम इस लेख के माध्यम से आपको हमास द्वारा…धरती के अंदर बनाई गईं हजारों सुरंगों के नेटवर्क का पर्दाफास करूंगा…।
भाईसाब…हमास-इजराइल के बीच भीषण लड़ाई चरम सीमा पर है। इस संघर्ष में अब तक हजारों लोगों की जान चली गई है। हालांकि, सब कुछ यहीं नहीं रुकने वाला नहीं है। जहां हमास बंधकों को छोड़ने के लिए इजराइल की ओर से हमले बंद करने की बात कर रहा है, वहीं इजराइल हमास को तबाह करने के लिए जमीनी हमले की तैयारी कर रहा है। वहीं इजराइल कई दिनों से गाजा में घुसने की तैयारी में जुटा हुआ है। हालांकि, इसके सामने हमास द्वारा बनाई गई लंबी-लंबी सुरगों की समस्या है। यही कारण है कि इजराइली सेना गाजा में जमीनी हमले को बार-बार टाल रही है। 7 अक्तूबर को हमला कर आतंकी संगठन हमास ने इजराइल को भारी नुकसान पहुंचाया। इसने इजराइल में घुसकर कत्लेआम मचाया और 220 से ज्यादा लोगों को बंधक बना लिया। तब से इजराइल ने हमास को जड़ से खत्म करने का एलान कर दिया। इसी कड़ी में इजराइली सेना हमास के गाजा पट्टी स्थित अड्डों को नष्ट करने के लिए जमीनी हमला करने की तैयारी में है। हालांकि, सैन्य विशेषज्ञों का मानना है कि अगर गाजा पट्टी पर जमीनी आक्रमण होता है तो हमास द्वारा बनाई गई सुरंगों का जाल आईडीएफ के लिए एक बड़ी चुनौती हो सकता है। इजराइल का दावा है कि उत्तर कोरिया के बाद हमास दुनिया का सबसे बड़ा सुरंग नेटवर्क संचालित करता है। इसके नेटवर्क में 1,300 सुरंगें शामिल हैं, जो कुल मिलाकर लगभग 500 किलोमीटर तक फैली हुई हैं। इनमें से कुछ सुरंगें 70 मीटर भूमिगत तक स्थित हैं।
भाईसाब…हमास की बनाई इन सुरंगों को ‘गाजा मेट्रो’ भी कहा जाता है। ये सुरंगें गाजा की सीमा के दोनों ओर नागरिकों के लिए भी बड़ा खतरा हैं। अगर हमास के लड़ाके इन सुरंगों का इस्तेमाल इजरायल में घुसपैठ करने और वहां के लोगों को मारने या किडनैप करने के लिए करते हैं तो जवाबी कार्रवाई में इजरायली सेना गाजा पर हमला करेगी। ये सुरंगें गाजा सीमा के दोनों ओर के नागरिकों के लिए भी बड़ा खतरा हैं। ये सुरंगें स्कूल, मस्जिद और घरों में खुलती हैं। इन्हें हमास ने रणनीति के तहत बनाया है। वहीं इजरायली डिफेंस फोर्स का कहना है कि ‘घनी आबादी वाले इलाकों के नीचे सुरंग बनाकर हमाज गाजा की फिलीस्तीनी आबादी का शोषण करता है। हमास ने जानबूझकर इन सुरंगों को रिहायशी इलाकों के बीचों-बीच बनाया है। इनमें से ज्यादातर सुरंगें महज दो मीटर ऊंची और दो मीटर चौड़ी हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि हो सकता है कि हमास द्वारा बंधक बनाए गए लोगों को इन सुरंगों के भीतर रखा गया हो, जिनका उपयोग संभवतः हथियारों, भोजन, पानी और ईंधन के भंडारण स्थानों के रूप में किया जाता है। पहले हमास के सुरंग नेटवर्क की जांच करने वाले शोधकर्ताओं का मानना है कि संगठन के कुछ कमांडर इन सुरंगों के भीतर तैनात हैं।
भाईसाब…इस बारे में विशेषज्ञों का कहना है कि गाजा पट्टी में इजराइली जमीनी आक्रमण की स्थिति में सुरंगें युद्ध की परिस्थिति को और जटिल कर देंगी। हाल ही में अमेरिकी सेना के एक पूर्व अधिकारी जॉन स्पेंसर ने कहा कि भूमिगत सुरंगों के साथ गाजा में चुनौती अद्वितीय है। विशाल और विस्तारित सुरंग नेटवर्क एक ऐसी समस्या है जिसका कोई सटीक समाधान नहीं है। सुरंगों के जरिए ही हमास लड़ाकों को विभिन्न युद्ध स्थलों के बीच सुरक्षित और निर्बाध रूप से स्थानांतरित करता है। इन सुरंगों की वजह से गोलाबारी, रणनीति, प्रौद्योगिकी और संगठन में इजराइल की महारत को हमास बेअसर कर पाता है। विशेषज्ञों का कहना है कि सुरंगों का पता लगाना मुश्किल है क्योंकि वे संरचनाओं के नीचे बनाई जा सकती हैं। उन्हें पहचानने के अलग-अलग तरीके हैं, जैसे कि जमीन में घुसने वाले रडार और चुंबकीय, थर्मल और ध्वनिक फिंगरप्रिंट को मापने के लिए तकनीकों का उपयोग करना। वहीं एक विशेषज्ञ का कहना है कि सुरंगों को मिटाने के लिए आंसू गैस या रसायनों का उपयोग किया जाता है, लेकिन ये तरीके वर्तमान में अवैध हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि इन सुरंगों पर बमबारी की जा सकती है जबकि इजराइल के पास ‘बंकर-बस्टर बम’ हैं जो जमीन के अंदर घुसने के लिए बनाए गए हैं। हालांकि, गाजा पट्टी की घनी आबादी के कारण यह विकल्प मुश्किल है। रैंड कॉर्पोरेशन के शोधकर्ताओं के अनुसार, इजराइल ने अतीत में इन सुरंगों को बंद करने के लिए ‘सटीक-निर्देशित युद्ध सामग्री’ का उपयोग किया था, लेकिन तकनीक ज्यादा सफल नहीं थी। शोधकर्ताओं ने कहा कि सुरंगों के भीतर लड़ना चुनौतीपूर्ण है क्योंकि वे बहुत अंधेरे और ठंडे हैं, बंदूक की गोलीबारी से और भी बदतर हो जाते हैं, जबकि अंदर हथियारों का उपयोग करने से धूल उड़ती है और यह बहुत खतरनाक हो सकता है। इन जोखिमों के कारण आईडीएफ सैनिकों को पहले केवल विशेष टीमों द्वारा सुरक्षित किए जाने के बाद ही सुरंगों में प्रवेश करने की अनुमति थी।
भाईसाब…अब हज़ारों सुरंगों के जाल को नष्ट करने का काम अब इजरायली सेना कर रही है। इजरायल की सेना की कोशिश है कि आतंकियों के लिए सेफ हाउस बनी सुरंगे नहीं रहेंगे, तो आतंकियों को खत्म करना आसान होगा। हाल ही में हमास के एक नेता ने दावा किया था कि सैंकड़ों किलोमीटर लंबी सुरंग गाजा पट्टी में बनी हुई हैं। इन सुरंगों को हमास आतंकियों ने इसी दिन के लिए बनाया था, लेकिन जिस तैयारी के साथ इजरायल गाजा में घुसा है। जमीनी कार्रवाई कर रहा है और इसका अंदाजा शायद हमास को नहीं रहा होगा। भाईसाब आपको पता है कि कई दिनों से इजरायली सेना गाजा में घुसकर हमास आतंकियों को ख़त्म कर रही है। सुरंग में छिपे आतंकियों को खोजकर मारा जा रहा है। अब इजरायल डिफेंस फोर्स ने नया दावा ये किया है कि हाल ही में उसने हमास के 150 आतंकियों को मार दिया है। आतंकियों को मारने के लिए इजरायल ने रॉकेट और हवाई हमले किए थे। इजरायल के लिए सबसे बड़ी चुनौती सुरंगों में छिपे आतंकी हैं। इसलिए गाजा को चारों तरफ से घेर चुका इजरायल, ग्राउंड ऑपरेशन को अंजाम दे रहा है।
भाईसाब…यह भी जान लें कि जिस तरह से गाजा के आंतकी अपनी सुरक्षा के लिए इन सुरंगों का इस्तेमाल करते उसी तरह से ऐसी सुरंगों का इस्तेमाल आतंकी कश्मीर में भी करते रहते हैं। कई बार पीओके से घुसने वाले आतंकी हमला करने के बाद सुरंगों में छिप जाते हैं। हालांकि उनकी सुरंगें हमास की तरह एडवांस नहीं होती…तो भाईसाब…आपको यह जानकारी कैसी लगी…! कमेंट ब़ॉक्स में अवश्य लिखें, धन्यवाद!

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.