Home Latest जानें 2014 के बाद विकास की रफ़्तार | Infrastructure Development |

जानें 2014 के बाद विकास की रफ़्तार | Infrastructure Development |

0 comment
जानें 2014 के बाद विकास की रफ़्तार | Infrastructure Development |

जानते है मोदी सरकार के उन उल्लेखनीय विकास कार्यो के बारे में जिन्होंने देश को नया आकार दिया :
नरेंद्र मोदी जी ने मई 2014 में भारत के प्रधानमंत्री पद की शपथ ली। तब से भारत के इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट में काफी तेज़ी आना शुरू हो गया। भाजपा के इस नई सरकार ने भारत को परिवर्तनकारी यात्रा पर आगे बढ़ाने का कार्य किया । अभूतपूर्व इंफ्रास्ट्रक्चर परियोजनाओं के माध्यम से, इसने भारत को एक विकसित राष्ट्र बनाने की जिम्मेदारी ली। मोदी सरकार के उन उल्लेखनीय विकास कार्यो पर जिन्होंने देश को नया आकार दिया है । मोदीजी के नेतृत्व में कार्य करनेवाली इस सरकार ने भारत की इंफ्रास्ट्रक्चर ‘ की जरूरतों पर ध्यान केंद्रित कर , इस संबंध में विभिन्न योजनाएं और नीतियां विकसित की हैं। और इस वजह से पिछले नौ वर्षों में देश ने सभी क्षेत्रों में तेजी से इंफ्रास्ट्रक्चर ‘ का विकास किया है।

सबसे ज़्यादा प्रगति रोडवेज और राजमार्ग क्षेत्र में देखने को मिलती है । सरकार ने भारतमाला परियोजना जैसी महत्वाकांक्षी परियोजनाओ के अंतर्गत पूरे देश में कनेक्टिविटी और माल ढुलाई को बढ़ाने का कार्य किया। इसी के साथ हजारों किलोमीटर राजमार्गों का निर्माण भी किया गया है। वही प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत मोदी सरकार ने ग्रामीण सड़क कनेक्टिविटी को लगभग 99% तक बढ़ा दिया, जिससे 53000 किमी से अधिक नए राष्ट्रीय राजमार्ग जुड़ गए। वही हाईवे निर्माण अब 37 किमी प्रति दिन की रफ्तार से चल रहा है।अब बात करते हैं भारतीय रेलवे की। लाइन डबलिंग और इलेक्ट्रिफिकेशन के माध्यम से, भारतीय रेलवे में भी महतवपूर्ण विस्तार हुआ है। बताते चले वंदे भारत एक्सप्रेस, देश की पहली घरेलू सेमी-हाई-स्पीड ट्रेन है ,जो ‘मेक इन इंडिया’ के सफलता कहानी का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। इस परियोजना के तहत अब तक 15 वंदे भारत ट्रेनें सेवा में हैं और अगले तीन वर्षों इनका आकड़ा बड़ कर 400 तक हो जाएगा ।
जम्मू और कश्मीर राज्य में चिनाब ब्रिज जैसी महत्वाकांक्षी इंफ्रास्ट्रक्चर ढांचा परियोजनाएं है, जो दुनिया के सबसे ऊंचे आर्क रेलवे पुलों में से एक है। इसे ब्रॉड-गेज भारतीय रेलवे लाइन के साथ उच्चतम ऊंचाई पर बनाया गया है। इसके अलावा, रेल मंत्रालय 1724 किमी से अधिक ट्रैक के साथ 2 समर्पित माल ढुलाई गलियारे – ईस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर (EDFC) और वेस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर (WDFC) विकसित करने की प्रक्रिया में है। ये माल गलियारे लुधियाना और मुंबई जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रीय विनिर्माण केंद्रों को महत्वपूर्ण बंदरगाहों से जोड़ने का काम करेंगे।बात अगर करे मेट्रो रेल परियोजनाओ की तो यह पिछले नौ वर्षों में 20 शहरों तक पहुँच चुकी हैं।
हम विमान और जलमार्ग क्षेत्र में भी बहोत आगे बड़ रहे है। पिछले 9 वर्षों में 74 नए हवाई अड्डे बनाए और संचालित किए गए हैं। ये क्षेत्रीय कनेक्टिविटी को बेहतर बनाने और कम लोकप्रिय स्थानों में पर्यटन को बढ़ाने में भी काम आ रहे हैं।इसके अलावा 111 जलमार्गों को राष्ट्रीय जलमार्ग घोषित कर दिया गया है।भारत सरकार ने अंतर्राष्ट्रीय व्यापार और पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए, भारत के बंदरगाहों का आधुनिकीकरण और विस्तार किया है। सागरमाला और इसके जैसी कइ अन्य पहलें आर्थिक विकास के लिए देश की व्यापक तटरेखा का उपयोग करने में महत्वपूर्ण रही हैं। इस अवधि के दौरान देश में दुनिया के सबसे ऊंचे रेलवे पुल, दुनिया की सबसे लंबी राजमार्ग सुरंग और अटल सुरंग जैसे प्रमुख निर्माण भी देखे गए। इसके अलावा, सरकार ने सरयू नहर सिंचाई नहर, पूर्वी और पश्चिमी पेरिफेरल एक्सप्रेस वे आदि जैसी कई लंबे समय से लंबित परियोजनाओं को शुरू किया और पूरा किया।डिजिटल इंडिया अभियान ने भारत को डिजिटल पावरहाउस में बदलने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। हाई-स्पीड इंटरनेट, मोबाइल कनेक्टिविटी और डिजिटल सेवाओं के प्रसार ने न केवल शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों को जोड़ा है बल्कि ई-गवर्नेंस, ई-कॉमर्स और ऑनलाइन शिक्षा को भी सुविधाजनक बनाया है।अब चूंकि सस्टेनेबिलिटी महत्वपूर्ण होती जा रही है, इसलिए रिन्यूएबल एनर्जी पर फोकस नहीं किया जाए तो डेवलपमेंट अधूरी रह जाती है। नवीकरणीय ऊर्जा को हार्नेस करने के लिए भारत ने सौर, पवन और जलविद्युत ऊर्जा में पर्याप्त निवेश किया है।इसी के साथ अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन जैसी पहल ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट के प्रति भारत की प्रतिबद्धता को मजबूत किया है।
प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी ने देश में विकास गतिविधियों में तेजी लाने के उद्देश्य से PM गति शक्ति राष्ट्रीय मास्टर प्लान (एनएमपी) की भी घोषणा की।ये विकास परियोजनाएं 2047 तक भारत को एक विकसित राष्ट्र बनने की यात्रा को तेज कर रही हैं। इसके साथ मोदी सरकार ने UPI पेमेंट्स , GST ऐसे महत्वपूर्ण क्षेत्र में अच्छा काम किया है। कश्मीर से 370 को हटाकर कश्मीर के हालातो में बड़ा बदलाव लाने का कार्य इस सरकार द्वारा किया गया । वही राम मंदिर निर्माण कार्य भी भाजपा सरकार के काल में ही पूर्ण हो रहा है। 2014 के बाद की अवधि निस्संदेह भारत की इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के यात्रा में एक महत्वपूर्ण चरण रही है। सरकार की महत्वाकांक्षी पहल और लगातार प्रयासों ने न केवल भौतिक परिदृश्य को बदल दिया है, बल्कि लाखों लोगों के जीवन में भी सुधार किया है। जैसे-जैसे भारत प्रगति कर रहा है, तकनीकी रूप से उन्नत इंफ्रास्ट्रक्चर ‘ पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है, जिससे देश और उसके नागरिकों के लिए एक उज्जवल और अधिक जुड़ा हुआ भविष्य सुनिश्चित हो सके।इसके साथ मोदी सरकार ने UPI पेमेंट्स , GST ऐसे महत्वपूर्ण क्षेत्र में अच्छा काम किया है।
कश्मीर से 370 को हटाकर कश्मीर के हालातो में बड़ा बदलाव लाने का कार्य इस सरकार द्वारा किया गया । वही राम मंदिर निर्माण कार्य भी भाजपा सरकार के काल में ही पूर्ण हो रहा है।

ऐसेही महत्वपूर्ण जानकारी के लिए जुड़े रहिये भाईसाब के साथ ।

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.