Home Latest “इंडिया” के बजाय “भारत” : संसद के विशेष सत्र में नाम बदलने की मांग ।

“इंडिया” के बजाय “भारत” : संसद के विशेष सत्र में नाम बदलने की मांग ।

0 comment

18-22 सितंबर तक होने वाले संसद के आगामी विशेष सत्र के दौरान सरकार द्वारा इंडिया नाम बदलकर भारत करने का प्रस्ताव लाया जा सकता है। भारत का संविधान वर्तमान में देश को “इंडिया, यानी भारत” के रूप में संदर्भित करता है, लेकिन इसे केवल “भारत” करने के लिए संशोधन करने की मांग बढ़ रही है। संविधान में संशोधन कर इंडिया का नाम भारत करने की मांग तेज हो गई है ।राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत जैसी प्रमुख हस्तियों ने इस बदलाव के लिए अपना समर्थन जताया है। भागवत ने पहले लोगों से “इंडिया” के बजाय “भारत” शब्द का उपयोग करने का आग्रह किया था, इस बात पर जोर देते हुए कि देश को सदियों से भारत के रूप में जाना जाता है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इसी तरह की भावना व्यक्त की है। 15 अगस्त, 2022 को लाल किले की प्राचीर से उन्होंने नागरिकों से पाँच प्रतिज्ञाएँ लेने की अपील की, जिनमें से एक गुलामी के हर निशान से मुक्ति थी। इसे देश की स्वदेशी विशेष रूप से, राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधान मंत्री को लाने-ले जाने के लिए जिस विशेष विमान का उपयोग किया जाता है उस पर “भारत” नाम अंकित होता है।
हाल ही में संपन्न संसद के मानसून सत्र के दौरान, भाजपा के राज्यसभा सांसद नरेश बंसल ने संविधान से ‘इंडिया’ नाम को हटाने की मांग करते हुए तर्क दिया था कि यह औपनिवेशिक गुलामी का प्रतीक है। भाजपा सांसद हरनाथ सिंह यादव ने भी दोहराया, जिन्होंने “इंडिया” को “भारत” से बदलने के लिए संवैधानिक संशोधन का आह्वान किया।
हालांकि 18 सितंबर को शुरू हो रहे इस सत्र का एजेंडा अभी तक जारी नहीं किया गया है, लेकिन ऐसे विधेयक की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है। नाम परिवर्तन के समर्थकों का मानना है कि देश के लिए एकल, स्वदेशी नाम होने से राष्ट्रीय गौरव की भावना पैदा होगी और देश की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत को बल मिलेगा।
ऐसेही और अपडेट्स के लिए जुड़े रहिये भाईसाब के साथ ।

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.