Home Haal-khayal सर्दियों में बढ़ते दिल के दौरे | Heart Attacks in Winter

सर्दियों में बढ़ते दिल के दौरे | Heart Attacks in Winter

0 comment
Heart Attacks in Winter

भाईसाब, जैसे-जैसे सर्दी बढ़ती जा रही है, स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दिल के दौरे के बढ़ते खतरों को लेकर चिंता व्यक्त की है तथा ठंड के महीनों के दौरान आंखों की निवारक देखभाल के महत्व पर भी जोर दिया है। हाल के अध्ययनों में भी सर्दियों के मौसम के दौरान दिल के दौरे की दर में उल्लेखनीय वृद्धि देखी गई है।

क्या आपको पता है कि हाड़ कंपकंपाती ठंड और अद्वितीय मौसमी कारक हृदय संबंधी समस्याओं और आंखों से संबंधित जटिलताओं की बढ़ती संवेदनशीलता में योगदान करते हैं। ठंड का मौसम रक्त वाहिकाओं को संकुचित कर देता है और रक्तचाप बढ़ाता है, जिससे संभावित रूप से दिल का दौरा पड़ सकता है, खासकर वैसे व्यक्तियों के लिए जिन्हें पहले से हृदय संबंधी समस्याएं मौजूद हैं।

भाईसाब, दुनियाभर के डॉक्टरों ने इस संबंध में चिंता व्यक्त की है, उन्होंने लोगों को सर्दियों के दौरान नियमित व्यायाम, दिल को स्वस्थ रखने वाले आहार और शरीर को पर्याप्त गर्मी प्रदान करके दिल के स्वास्थ्य के बारे में सतर्क रहने की सलाह दी है। भाईसाब, सर्दियों के मौसम के दौरान दिल के दौरे के बढ़ते जोखिम से निपटना जरूरी है। आपको बता दें कि यह घटना पर्यावरणीय कारकों के संगम के कारण होती है, इस दौरान प्रदूषण के स्तर में वृद्धि न केवल सूजन को बढ़ाती है, बल्कि अस्थमा और धूम्रपान करने से उत्पन्न बीमारियों से पीड़ित लोगों के लिए श्वसन संबंधी चुनौतियां भी बढ़ाती है। भाईसाब, ठंड के मौसम में रक्त वाहिकाओं का संकुचन विशेष रूप से उच्च रक्तचाप के रोगियों के लिए एक महत्वपूर्ण खतरा पैदा करता है, जिससे दुर्बल मस्तिष्क स्ट्रोक की संभावना बढ़ जाती है। भाईसाब, परेशान करने वाली बात यह है कि आंकड़ों से पता चलता है कि गर्मियों के महीनों की तुलना में सर्दियों में दिल के दौरे के कारण मृत्यु दर अधिक होती है।

banner

हालांकि, इन जोखिमों का मुकाबला करने के लिए सक्रिय जीवनशैली उपायों को अपनाने की उम्मीद है। नियमित व्यायाम, सामान्य खान-पान की आदतें और गुनगुने पानी के साथ शरीर में पानी की आपूर्ति सर्दियों में होने वाले हृदयाघात की घटना को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है। भाईसाब, आपको बता दें कि जब भी 24 घंटे की अवधि में तापमान 2.9 डिग्री सेल्सियस गिरता है, तो दिल का दौरा 11% बढ़ जाता है, जैसा कि हार्ट एक्सपर्ट्स हमेशा कहते हैं सर्दियों में अपने दिल का खास ख्याल रखना चाहिए क्योंकि ठंडे मौसम के कारण हमारे दिल की आर्टरीज सिकुड़ जाती हैं, जिससे ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। सर्दियों के दौरान कम पसीना आने का मतलब है कि जिन लोगों का दिल कमजोर होता है उनके शरीर में अधिक पानी जमा हो जाता है, जिससे हार्ट फेलियर की समस्या हो सकती है। भाईसाब, अब सवाल उठता है कि ठंड में हार्ट अटैक से बचने के लिए क्या उपाय करें?, तो जवाब में डॉक्टरों का कहना है कि बढ़ती ठंड को देखते हुए हार्ट से जुड़ी बीमारी के मरीज को जहां तक ​​हो सके घर के अंदर रहना चाहिए. ऐसे मौसम में अचानक cold stoke होने की आशंका बढ़ जाती है, ठंड में तले हुए, फैटी, मीठे और हाई कोलेस्ट्रॉल वाले भोजन से बचें. ऐसे फूड हार्ट अटैक का रिस्क बढ़ा सकते हैं। भाईसाब, दिल को मजबूत और स्वस्थ बनाने वाले नट्स, फल और सब्जी इस मौसम में हर रोज खाएं, ठंड से बचने के लिए विटामिन सी का सेवन करें, इससे इम्यूनिटी मजबूत होती है और ठंड का असर भी कम होता है, आप डाइट में संतरा, नींबू, मौसमी और आंवला शामिल करें, साथ ही शरीर के मूल तापमान को गर्म रखने के लिए पर्याप्त मात्रा में पौष्टिक वसा, ऊर्जा से भरपूर खाद्य पदार्थ शामिल करें, पौष्टिक वसा और दूसरे खाद्य पदार्थों का थर्मिक प्रभाव आपको अपना मूल तापमान बनाए रखने में मदद करेगा।

चलते-चलते, भाईसाब, आपको जानकारी दे दें कि कुछ डॉक्टरों ने सर्दियों के दौरान आंखों की देखभाल के महत्व पर जोर दिया, सर्दियों के महीनों में आंखों का अपेक्षित स्वास्थ्य बनाए रखने में विशिष्ट चुनौतियां पेश होती हैं, क्योंकि शुष्क हवा, घर के अंदर की गर्मी और कठोर हवाओं के संपर्क में आने से आंखें शुष्क हो सकती हैं, जलन हो सकती है और इससे भी अधिक गंभीर स्थिति पैदा हो सकती है। इस मौसम के दौरान शरीर में पानी की कमी बनाये रखना, कृत्रिम आंसू का इस्तेमाल करना और कठोर मौसम की स्थिति से आंखों की रक्षा करना जैसे निवारक उपाय आंखों को स्वस्थ रखने के लिए महत्वपूर्ण हैं।

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.