Home Gali Nukkad 11 नेताओं ने छोड़ा कांग्रेस का साथ | Exit of 11 Leaders Shakes Congress

11 नेताओं ने छोड़ा कांग्रेस का साथ | Exit of 11 Leaders Shakes Congress

0 comment
Exit of 11 Leaders Shakes Congress

भाईसाब, कांग्रेस नेता राहुल गांधी न्याय यात्रा पर निकले हुए हैं. इधर उनकी पार्टी के एक और दिग्गज नेता पूर्व मंत्री मुरली देवड़ा ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया है, लोकसभा चुनाव से ऐन पहले मिलिंद देवड़ा का इस्तीफा कांग्रेस के लिए किसी झटके से कम नहीं है, यह पहली बार नहीं है जब किसी दिग्गज कांग्रेसी ने पार्टी छोड़ी है. साल 2019 से अभी तक कुल 11 नेताओं ने ऐसा किया है, इनमें से तमाम तो राहुल गांधी के बेहद करीबी थे, मिलिंद देवड़ा ने शिवसेना शिंदे गुट ज्वॉइन कर लिया, देवड़ा के कांग्रेस छोड़ने के पीछे की वजह दक्षिणी मुंबई सीट है, जहां से वह लोकसभा चुनाव लड़ना चाहते थे, लेकिन कांग्रेस के गठबंधन के चलते यह सीट शिवसेना उद्धव गुट के खाते में चली गई थी.

भाईसाब, सबसे पहले बात करेंगे कपिल सिब्बल और गुलाम नबी आजाद की, आपको बताना जरूरी है कि कभी कांग्रेस के दिग्गजों में शुमार रहे कपिल सिब्बल ने 16 मई, 2022 को पार्टी से इस्तीफा दे दिया था, वह यूपीए के शासनकाल में केंद्रीय मंत्री रह चुके थे, हालांकि सिब्बल ने अपने इस्तीफे का ऐलान एक हफ्ते बाद किया. उन्होंने सपा समर्थित निर्दल प्रत्याशी के रूप में राज्यसभा के लिए नामांकन किया था, इसी तरह गुलाम नबी आजाद ने भी 2022 में ही कांग्रेस का हाथ छोड़ दिया था, यह पार्टी के लिए बहुत बड़ा झटका था, आजाद राहुल गांधी के ऊपर जमकर बरसे थे और अपने इस्तीफे में उनकी अपरिपक्वता को लेकर भी सवाल उठाए थे. वहीं भाईसाब, कभी कांग्रेस का युवा चेहरा कहे गए हार्दिक पटेल ने भी मई 2022 में कांग्रेस छोड़ दी थी, यह राहुल गांधी के लिए व्यक्तिगत तौर पर बहुत बड़ा झटका था, जो 2019 में उन्हें पार्टी में लेकर आए थे. बाद में हार्दिक पटेल ने भाजपा ज्वॉइन कर ली थी, इसी तरह एक अन्य पूर्व केंद्रीय मंत्री अश्वनी कुमार ने भी फरवरी 2022 में कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था, उन्होंने यह फैसला पंजाब चुनाव से ऐन पहले लिया था, काफी वरिष्ठ कांग्रेसी रहे अश्वनी कुमार पार्टी छोड़ने वाले पहले सीनियर यूपीए कैबिनेट मिनिस्टर थे. भाईसाब, ऐसा ही दिग्गज नाम सुनील जाखड़ का था जो पंजाब कांग्रेस के मुखिया थे. उन्होंने साल 2022 में पार्टी छोड़ी थी. असल में जाखड़ ने पंजाब के उस वक्त के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की आलोचना की थी, इसके लिए पार्टी ने उनसे जवाब मांगा था. बाद में मई 2022 में जाखड़ ने भाजपा ज्वॉइन कर ली थी और उसी साल जुलाई में उन्हें पंजाब का प्रदेश अध्यक्ष बना दिया गया था, एक अन्य पूर्व केंद्रीय मंत्री आरपीएन सिंह ने भी भाजपा छोड़कर जनवरी 2022 में भाजपा ज्वॉइन कर ली थी, उत्तर प्रदेश चुनाव से ऐन पहले ऐसा करने वाले वह प्रमुख नेता था, वह यूपी चुनाव प्रचार में प्रियंका गांधी द्वारा दरकिनार किए जाने से आहत महसूस कर रहे थे. भाईसाब, आपको जानकारी देना जरूरी है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया और जितिन प्रसाद, दोनों ही नेता राहुल गांधी के बेहद करीबी थे, ज्योतिरादित्य के पिता माधवराव सिंधिया भी कांग्रेस के दिग्गज नेता थे और केंद्र में मंत्री भी रहे थे, सिंधिया ने साल 2020 में कांग्रेस छोड़ भाजपा ज्वॉइन कर ली थी, उस वक्त मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार गिराने में भी सिंधिया की बड़ी भूमिका थी, इसी तरह जितिन प्रसाद ने 2021 में, यूपी विधानसभा चुनाव से एक साल पहले कांग्रेस छोड़ भाजपा का दामन थाम लिया था, वह यूपी में कांग्रेस का बड़ा ब्राह्मण चेहरा माने जाते थे. इसी तरह भाईसाब, आपको पता होना चाहिए कि अल्पेश ठाकोर कांग्रेस के पूर्व विधायक थे और जुलाई 2019 में पार्टी छोड़ दी थी, बाद में वह भाजपा से जुड़े थे और पिछले साल हुए चुनाव में गुजरात की गांधीनगर साउथ सीट से जीत हासिल की थी. इसी तरह पूर्व दिग्गज कांग्रेसी एके एंटनी के बेटे अनिल एंटनी ने बीते साल जनवरी में पार्टी छोड़ दी थी, उन्होंने अगले ही महीने भाजपा ज्वॉइन कर ली थी और पीएम मोदी की काफी तारीफ की थी. हालांकि बेटे के फैसले पर पूर्व केंद्रीय मंत्री एंटनी ने काफी नाराजगी जताई थी.

चलते-चलते भाईसाब, बता पते की बताते हैं, कांग्रेस एक झटके से उभर नहीं पाती है और उसे दूसरा झटका लग जाता है, अब से कुछ महीने बाद ही लोकसभा चुनाव होना है, ऐसे में आम चुनाव से ठीक पहले बड़े नेता का पार्टी को छोड़कर जाना कांग्रेस को ज्यादा नुकसान पहुंचा सकता, कांग्रेस पार्टी में राहुल गांधी जैसे युवा नेता होने के वाबजूद कई दिग्गज और युवा नेता पार्टी का साथ छोड़कर दूसरे दलों का हाथ थामते हुए नजर आए हैं.

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.