Home Teej Tyohhar देव दीपावली | Dev Dipawali |

देव दीपावली | Dev Dipawali |

0 comment

भाईसाब, क्या आपको पता है, बाबा विश्वनाथ की नगरी वाराणसी में आज भव्य देव दीपावली मनाई जाने वाली है। यहां के अर्धचंद्राकार घाटों पर इस बार 21 लाख दीप जलाए जाएंगे। इसके अलावा विभिन्न आयोजन इस कार्यक्रम में चार चांद लगाएंगे। यहां की सुंदरता और भव्य बनाने के लिए सभी 84 घाटों को दुल्हन की तरह सजाया गया है।
आज के इस लेख में हम वाराणसी में मनाई जाने वाली भव्य देव दीपावली के बारे में बात करेंगे, जिसपर देश ही नहीं पूरी दुनिया की नजर है।

भाईसाब, आपको जानकारी देना जरूरी है कि वाराणसी की देव दीपावली पूरी दुनिया में मशहूर है। इसके साथ ही काशी के घाटों के किनारे सदियों से खड़ी ऐतिहासिक इमारतों पर धर्म की कहानी जीवंत होती दिखेगी। प्रशासन की ओर से गंगा पार दीपोत्सव के लिए 20 सेक्टर बनाए गए हैं। विश्वनाथ कॉरिडोर और काशी के चेत सिंह घाट पर साउंड एंड लाइट शो विद प्रोजेक्शन होलोग्राफिक शो आयोजित होगा। पर्यटकों को संगीत की ध्वनि के साथ लेज़र और लाइट्स का अनूठा तालमेल देखने को मिलेगा। देव दीपावली के अवसर पर पर्यटक पौराणिक काशी को शिव से जोड़ने वाली कथा का रसपान करेंगे। लगभग 15 से 20 मिनट का यह शो चेत सिंह घाट पर कई बार दिखाया जाएगा। भाईसाब, पहले ही काशी में आस्था का जनसैलाब उमड़ पड़ा है। सुबह से ही दशाश्वमेध समेत गंगा के 80 से ज्यादा घाटों पर कार्तिक पूर्णिमा का स्नान चल रहा है। सुबह 8 बजे तक करीब 3 लाख लोगों ने स्नान किया है, जबकि पूरे दिन में करीब 5 लाख लोग स्नान करेंगे। भाईसाब, आज गंगा तट पर दीप प्रज्वलन शाम 5 बजे से शुरू होगा। शाम 6 बजे तक सभी घाटों पर दीप प्रज्वलित किए जाएंगे। इसके बाद तक दशाश्वमेध घाट पर मां गंगा की महा आरती होगी। गंगा आरती के बाद अन्य आयोजन होंगे। इस बार 21 लाख से अधिक दीपक टिमटिमाएंगे तो 10 लाख से अधिक पर्यटक पहुंचेंगे। आपको ये भी बता दें कि त्रिपुर असुर पर भगवान शिव की विजय के पर्व देव दीपावली महोत्सव पर काशी में इस बार 70 देशों के 150 राजदूत खास मेहमान होंगे। इसमें इंडोनेशिया, इटली, चीन, पोलैंड, रूस, नेपाल, भूटान, ग्रीस समेत अन्य देशों के राजदूत, उच्चायुक्त व शीर्ष अधिकारी शामिल हैं जो क्रूज पर सवार होंगे और गंगा आरती, आतिशबाजी समेत गंगा के घाटों पर सजी देव दीपावली की रंगत देखेंगे। नमो घाट पर इन मेहमानों के लिए बनारसी व्यंजन के स्टाल लगाए जाएंगे।
भाईसाब, दशाश्वमेध घाट पर गंगा सेवा निधि द्वारा अमर जवान ज्योति की अनुकृति को अंतिम रूप दिया जा रहा है। भारत के अमर वीर योद्धाओं को ‘भगीरथ शौर्य सम्मान’ से सम्मानित भी किया जाता है। 21 अर्चक व 51 देव कन्याएं रिद्धि-सिद्धि के रूप में दशाश्वमेध घाट पर महाआरती करेंगी, जो नारी शक्ति का भी संदेश देंगी। घाटों पर छत्रपति शिवजी महाराज के चित्रों के जरिए संदेश देंगी तो वहीं गुरुनानक देव की जयंती प्रकाश उत्सव पर उनसे चित्रों का प्रदर्शन दिखेगा।
भाईसाब, उम्मीद की जा रही है कि आज 10 लाख की संख्या में पर्यटक आएंगे। इसको देखते हुए काशी को अभेद्य किला बनाने की कवायद अभी से शुरू कर दी गई है। काशी के 84 घाटों को 9 जोन, 11 सेक्टर और 32 सब सेक्टर में बांटकर सुरक्षा-व्यवस्था का पूरा खाका तैयार कर लिया गया है। इसके अलावा अत्यधिक भीड़ वाले घाटों पर क्विक रिस्पॉन्स टीम की 20 टीमें तैनात रहेंगी। साथ ही 11 विशेष टीमें लाउड हेलर के साथ घाटों पर पेट्रोलिंग के लगाई जाएंगी। इतना ही नहीं काशी के 17 प्रमुख घाटों पर एंटी रोमिया स्क्वॉड की टीमें भी होंगी। साथ ही साथ हर घाट पर महिला पुलिसकर्मियों की टीम मौजूद रहेगी। इसके अलावा 16 गोताखोरों का दस्ता उपलब्ध रहेंगे।
भाईसाब, आपको बता दें कि बनारस में देव दीपावली का त्योहार बड़ी दिवाली के 15 दिन बाद मनाया जाता है। इस दिन देवी-देवताओं की पूजा-अर्चना करने के बाद नदी में स्नान करके दीपदान किया जाता है। माना जाता है कि ऐसा करने से सभी देवताओं का आशीर्वाद प्राप्त होता है।
तो भाईसाब, ये थी जानकारी वाराणसी में आज मनाई जाने वाली भव्य देव दीपावली के बारे में, आशा करते हैं कि यह जानकारी आपको जरूर पसंद आई होगी, धन्यवाद!

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.