Home Latest नवरात्रि दिन 4 था : मां कुष्मांडा की पूजा से भक्तों को जीवन में सुख, शांति और समृद्धि प्राप्त होती है | Navratri Day 4 : Maa Kushmanda |

नवरात्रि दिन 4 था : मां कुष्मांडा की पूजा से भक्तों को जीवन में सुख, शांति और समृद्धि प्राप्त होती है | Navratri Day 4 : Maa Kushmanda |

0 comment
नवरात्रि दिन 4 था : मां कुष्मांडा की पूजा से भक्तों को जीवन में सुख, शांति और समृद्धि प्राप्त होती है | Navratri Day 4 : Maa Kushmanda |

नवरात्रि के चौथे दिन मां कुष्मांडा की पूजा की जाती है। मां कुष्मांडा को अष्टभुजा देवी के रूप में भी जाना जाता है। इनके आठ हाथ हैं और इनके शरीर की कांति एवं प्रभा सूर्य के समान दैदीप्यमान है। देवी सूर्य को दिशा और ऊर्जा प्रदान करती हैं। इसलिए, सूर्य देव देवी कुष्मांडा द्वारा शासित हैं।

पूजा विधि
• सुबह जल्दी उठकर स्नान करें और साफ कपड़े पहनें।
• एक चौकी पर लाल कपड़ा बिछाएं और उस पर मां कुष्मांडा की मूर्ति या तस्वीर रखें।
• देवी को लाल फूल, अक्षत, रोली, हल्दी, धूप, दीप, फल और मिठाई अर्पित करें।
• देवी के मंत्र “ॐ कुष्मांडा देव्यै नमः” का 108 बार जाप करें।
• देवी से अपने जीवन में सुख, शांति और समृद्धि की कामना करें
• पूजा करते समय धूप, दीप और अगरबत्ती जलाएं।
• देवी को चंदन का तिलक लगाएं।
• देवी को श्रृंगार सामग्री अर्पित करें।
• देवी की आरती करें।

नवरात्रि के चौथे दिन को कूष्मांडा षष्ठी भी कहा जाता है। इस दिन सूर्य उत्तरायण होता है। इस दिन से सूर्य देव की शक्ति बढ़ने लगती है।नवरात्रि के चौथे दिन मां कुष्मांडा की पूजा करके आप उनकी कृपा प्राप्त कर सकते हैं और अपने जीवन में सुख, शांति और समृद्धि प्राप्त कर सकते हैं।

ऐसेही महत्वपूर्ण जानकारी के लिए जुड़े रहिये भाईसाब के साथ।

banner

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.