Home Latest भारत की महिलाओं में क्रिप्टोकरेंसी का जबरदस्त क्रेज | Cryptocurrency Craze In Indian Women

भारत की महिलाओं में क्रिप्टोकरेंसी का जबरदस्त क्रेज | Cryptocurrency Craze In Indian Women

0 comment
Cryptocurrency Craze In Indian Women

भाईसाब, क्या आपको पता है, देश में क्रिप्टो निवेशकों की कुल संख्या 1.9 करोड़ से ज्यादा है और इनमें 9 फीसदी से ज्यादा महिला निवेशक हैं, एक रिपोर्ट के मुताबिक देश में क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने वाले 75 फीसदी युवा हैं और इनकी उम्र 18 से 35 साल के बीच है, प्रत्येक एक महिला निवेशक पर सात पुरुषों का अनुपात है, 35 फीसदी महिला क्रिप्टो यूजर्स टियर-1 शहरों से हैं जबकि जबकि शेष 65 फीसदी में टियर-2, टियर-3 और छोटे शहरों की विविध संरचना शामिल है, जो विविध भौगोलिक क्षेत्रों में क्रिप्टो के व्यापक आकर्षण को दर्शाती है। देश में 68.5 करोड़ महिलाओं की आबादी है, जिसमें से 6.30 करोड़ यानि 63 मिलियन महिलाओं के पास क्रिप्टोकरेंसी मौजूद है, यानि 9.2 फीसदी महिलाओं ने क्रिप्टोकरेंसी खरीद रखा है.

हर 10 में से एक भारतीय महिला ने क्रिप्टोकरेंसी में निवेश कर रखा है, एक तरफ निवेश और बचत को लेकर महिलाओं में जागरूकता का अभाव बताया जाता है, वहीं दूसरी तरफ देश में ऐसी भी महिलाएं हैं जो क्रिप्टोकरेंसी जैसे वर्चुअल करेंसी में भी जमकर निवेश करने लगी हैं. बता दें कि देश के 10 शहर 60 प्रतिशत क्रिप्टोकरेंसी निवेशकों का प्रतिनिधित्व करते हैं, इस संबंध में दिल्ली, मुंबई, कोलकाता प्रमुख निवेशक स्थान हैं, वहीं टियर-2 शहर भी तीव्र गति से क्रिप्टोकरेंसी यानी डिजिटल या वर्चुअल करेंसी की ओर बढ़ रहे हैं, भाईसाब, आपको जानकारी दे दें कि लेन-देन की मात्रा के मामले में अमेरिका के बाद ब्रिटेन, तुर्की और रूस को पीछे छोड़ते हुए भारत दूसरा सबसे बड़ा बाजार है, भारतीय क्रिप्टो परिदृश्य में कई महत्त्वपूर्ण बदलाव देखे गए हैं जिसमें लखनऊ और पटना जैसे टियर-2 शहर आश्चर्यजनक रूप से अग्रणी बनकर उभरे हैं। जयपुर, इंदौर, भुवनेश्वर और लुधियाना के साथ ये टियर-2 शहर पारंपरिक वित्तीय निवेश स्थान पर हावी रहने वाले प्रमुख शहरी केंद्रों की धारणा के विपरीत शीर्ष 15 में स्थान बनाए हुए हैं। लाभ पर 30 प्रतिशत कर के बावजूद जुलाई, 2022 से जून, 2023 के बीच भारत का क्रिप्टो वॉल्यूम लगभग 269 अरब डॉलर दर्ज किया गया। यह प्रवृत्ति आगे भी जारी रही और अक्टूबर की तुलना में वैश्विक स्तर पर नवंबर में ट्रेडिंग वॉल्यूम में 75 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई। भाईसाब, इसमें कोई दो राय नहीं है क्रिप्टोकरेंसी को लेकर क्रेज लगातार बढ़ रहा है, चौंकाने वाली बात ये है कि बड़े शहरों के मुकाबले छोटे शहरों में डिजिटल असेट के प्रति लोगों की दिलचस्पी ज्यादा दिख रही है, क्रिप्टो एक्सचेंजों का भी कहना है कि छोटे शहरों का ग्रोथ रेट ज्यादा है, इसलिए क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंजों ने ग्रामीण और अर्बन इंडिया पर फोकस बढ़ाया है, वहां निवेशकों की तलाश की जा रही है और उन्हें आकर्षित करने का प्रयास हो रहा है, क्रिप्टो में निवेश करने वाले ज्यादातर यूथ हैं, क्रिप्टो निवेशकों की औसत उम्र लगातार घट रही है, जबकि औसत निवेश बढ़ रहा है. भाईसाब, क्रिप्टो में महिला निवेशकों की संख्या तेजी से बढ़ी है, रिपोर्ट यह भी कहती है कि महिलाओं ने बिटकॉइन में ज्यादा ट्रेड की, जबकि पुरुषों ने शीबा इनू पर ज्यादा दांव लगाया. इसके अलावा क्रिप्टो में ट्रेडिंग और इनवेस्टमेंट में व्यापक बदलाव दिखा है, जो इस बात से भी जाहिर होता है कि वजीरएक्स के 66 फीसदी यूजर्स 35 साल की उम्र से कम के हैं.

भाईसाब, आपको सबसे अहम जानकारी दे दें कि बाजार में उतार-चढ़ाव के बीच क्रिप्टोकरेंसी दुनिया भर के हैकर्स और साइबर अपराधियों की पहली पसंद बनी हुई हैं, पिछले साल के दौरान दुनिया भर में हजारों करोड़ रुपए की क्रिप्टोकरेंसी की चोरियां की गईं, 2023 में करीब 1.7 बिलियन डॉलर की क्रिप्टोकरेंसी चोरी की गईं, भारतीय करेंसी में यह वैल्यू 14,130 करोड़ रुपए से भी ज्यादा हो जाती है, पिछले साल हुई क्रिप्टोकरेंसी की चोरियों में सबसे ज्यादा संलिप्तता उत्तर कोरिया से संबंधित संगठनों की रही, रिपोर्ट के अनुसार, 2023 में उत्तर कोरिया के संगठन करीब 20 मामलों में शामिल रहे और उन्होंने 1 बिलियन डॉलर से ज्यादा की चोरियां की। भाईसाब, क्रिप्टो इंडस्ट्री के ताजे ट्रेंड को देखें तो स्वीकार्यता बढ़ने के बाद भी नया साल कुछ ठीक साबित नहीं हो रहा है, सबसे प्रमुख क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन ने 2024 की शुरुआत कई सालों के उच्च स्तर के करीब की थी, साल की शुरुआत में भाव 50 हजार डॉलर के काफी नजदीक पहुंच गया था, हालांकि उसके बाद बिटकॉइन की कीमतों में करीब 20 फीसदी की गिरावट आ चुकी है।

banner

चलते-चलते, भाईसाब, जानकारी रखें कि हाल ही में वित्त मंत्रालय के तहत वित्तीय खुफिया इकाई ने मनी लॉन्ड्रिंग रोधी कानून का अनुपालन न करने के लिए बिनेंस और कुकोइन जैसे 9 विदेश से चलने वाले क्रिप्टोकरेंसी और ऑनलाइन डिजिटल संपत्ति प्लेटफार्मों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है, बिनेंस और कुकॉइन के अलावा, अन्य वर्चुअल डिजिटल एसेट सर्विस प्रोवाइडर हुओबी, क्रैकेन, गेट।आईओ, बिट्ट्रेक्स, बिटस्टैम्प, एमईएक्ससी ग्लोबल और बिटफेनेक्स हैं।

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.