Home Khavaiya दिल्ली का चांदनी चौक : बाज़ारों का स्वर्ग | Chandni Chowk Market,Delhi |

दिल्ली का चांदनी चौक : बाज़ारों का स्वर्ग | Chandni Chowk Market,Delhi |

0 comment

चांदनी चौक, राजधानी दिल्ली का सबसे पुराना और आकर्षित बाज़ारों में से एक है जिसे “बाज़ारों का स्वर्ग” भी कहा जाता है , यहां आपको सुई से तलवार तक सारी चीज़े मिल सकती है । यह जगह दुनिया भर के प्रयटकों को लुभाती है और खाने पिने के अनगिनत आइटम्स यहाँ आपको मिल जायेंगे।
चांदनी चौक का इतिहास :
चांदनी चौक का इतिहास ऐसा है की जब मुगल सम्राट शाहजहाँ के द्वारा अपनी राजधानी को आगरा से दिल्ली स्थानांतरित किया गया था , तब यमुना नदी के तट पर शाहजहाँनाबाद शहर की स्थापना की गई। वर्ष 1650 में चांदनी चौक का निर्माण सम्राट शाहजहां की प्रिय पुत्री जहाँआरा द्वारा बनाई गई डिजाइन के आधार पर किया गया था। माना जाता हैं कि चांदनी चौक का नाम चांदनी रात में पानी में चाँद की आकर्षित छवि के आधार पर रखा गया हैं। जबकि एक अन्य कहानी के अनुसार चांदनी चौक का नाम चाँदी की कारीगरी के नाम पर रखा गया था।

गौरी शंकर मंदिर:
यहाँ पर स्थित गौरी शंकर मंदिर लगभग 800 साल पुराना हैं और यह मंदिर प्रसिद्ध दिगंबर जैन लाल मंदिर के पास स्थित हैं। गौरी शंकर मंदिर भगवान शिव को समर्पित किया गया हैं। सोने के आभूषण पहने हुए सोने की छत्री के नीचे भगवान भोले नाथ और माता पार्वती की आकर्षित मूर्ती स्थापित हैं।
दिगंबर जैन लाल मंदिर :
दिगंबर जैन लाल मंदिर को वर्ष 1656 में स्थापित किया गया था। यह भारत के सबसे पुराने और सबसे अधिक प्रसिद्ध जैन मंदिर है। जोकि 23 वें जैन तीर्थंकर पार्श्वनाथ जी को समर्पित है।
गुरुद्वारा सीस गंज साहिब तीर्थ स्थल :
ऐसे ही यहां स्थित गुरुद्वारा सीस गंज साहिब एक प्रमुख और ऐतिहासिक तीर्थ स्थल हैं। गुरुद्वारा सिस गंज साहिब की स्थापना 1738 में हुई थी। यह सिख समुदाय के नौवे गुरु तेग बहादुर जी को समर्पित है।सबसे ख़ास यहां का लाल किला शहर के केंद्र में स्थित यह किला मुगल वंश के सम्राटो का एक निवास स्थान था। इस किले का निर्माण मुगल शासक शाहजहाँ के द्वारा अपनी राजधानी को आगरा से दिल्ली स्थानांतरित करने के उपरांत करवाया गया था। भारत के प्रधानमंत्री प्रत्येक वर्ष स्वतंत्रता दिवस पर यहां राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं। चांदनी चौक के खारी बावली में मसालों का बाजार लगता है और यह बाजार एशिया का सबसे बड़ा मसालों का थोक मार्केट है यहां की छोटी-छोटी दुकाने बाजार का नजारा बदल देती है और इन दुकानों की कीमत करोङो में होती है। यहां के पराठे वाली गली भी है , जहाँ लाजवाब पराठे, दही भल्ले, चाट, नॉन वेजिटेरियन फूड, लाल कुल्फी, कचोडी, जलेबी, छोलेभटुरे और दही लस्सी मिलती है | यहां के स्ट्रीट फ़ूड के पंडालों पर आप हज़ारो की भीड़ देख सकते है |लोग यहां खाने पिने के साथ साथ शादी की शॉपिंग के लिए भी आते है यहां के लहंगे शेरवानी और अन्य आइटम पुरे देश में भेजे जाते है शादी कार्ड से लेकर दूल्हे के मुकुट तक सब सस्ते दामों पर यहां आपको मिल जायेगा |
यहाँ कैसे जाए :
दिल्ली मेट्रो का येलो लाइन चांदनी चौक से होकर गुजरता है और चांदनी चौक मेट्रो स्टेशन पर उतर कर आप यहां आसानी से पहुंच सकते है आप यहां बस और ट्रैन से भी जा सकते है |
ऐसेही रोमांचक जानकारी के लिए जुड़े रहिये भाईसाब के साथ ।

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.