Home Gali Nukkad राजनीति में भोजपुरी के सितारे कितने कारगर | Bhojpuri Stars in Politics

राजनीति में भोजपुरी के सितारे कितने कारगर | Bhojpuri Stars in Politics

0 comment
Bhojpuri Stars in Politics

भाईसाब, क्या आप जानते हैं, राजनीति में कई फिल्मी सितारे आए और कई चले गये, कुछ के हाथ सफलता लगी तो कुछ तमाम कोशिशों के बाद भी नई पारी में पैर नहीं जमा सके, ऐसा नहीं है कि फिल्मी सितारों ने राजनीति का रुख अभी किया, वर्षों से बड़े पर्दे पर अपनी एक्टिंग का दम दिखा चुके कई सितारे राजनीतिक का दामन पहले भी थाम चुके हैं, अभी हाल ही में बीजेपी ने 18वें लोकसभा चुनाव में 4 प्रमुख संसदीय सीटों से भोजपुरी सितारों को चुनावी मैदान पर उतारा है, आपको बता दें कि भाजपा ने मनोज तिवारी, रवि किशन, दिनेश लाल यादव निरहुआ और पवन सिंह को टिकट दी है, लेकिन इनमें से पवन सिंह ने चुनाव लड़ने से इंकार कर दिया दिया है, खैर हम आज के इस वीडियो में focus करेंगे कि राजनीति में भोजपुरी के सितारे कितने कारगर हैं, और हम ये भी जानने की कोशिश करेंगे कि इन सितारों की अपने क्षेत्र में कितनी पकड़ है ?

भाईसाब, इन सितारों ने भोजपुरी सिनेमा में खूब काम किया है, ये राजनीति के साथ-साथ फिल्मों में भी खूब सक्रिय हैं, बता दें कि भाजपा ने उत्तर पूर्व दिल्ली से तीसरी बार एक्टर मनोज तिवारी को उतार कर पर बड़ा दांव खेला है, उत्तर पूर्व दिल्ली सीट पर मौजूदा सांसद मनोज तिवारी को पूर्वांचल से जुड़ा मजबूत चेहरा माना जाता है, भोजपुरी फिल्मों के सुपरस्टार, राजनेता और संगीत निर्देशक मनोज तिवारी ने 2009 के लोकसभा में समाजवादी पार्टी की टिकट पर गोरखपुर से चुनाव लड़ा था, लेकिन वे योगी आदित्यनाथ के सामने चुनाव हार गए थे, उसके बाद वर्ष 2014 में भाजपा के टिकट पर उत्तर-पूर्वी दिल्ली से चुनाव लड़े और जीत गए, इसके बाद पार्टी ने उन्हें 2019 में भी यहीं से टिकट दिया, जहां से वो जीतने में कामयाब रहे। भाईसाब, बता दें कि, उत्तर-पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट में बिहार और पूर्वांचली वोटरों की संख्या काफी अधिक है, मनोज तिवारी पूर्वांचल के लोगों के बीच काफी लोकप्रिया हैं, उनकी इसी लोकप्रियता को ध्यान में रखते हुए भाजपा ने एक बार फिर उन पर भरोसा जताते हुए उन्हें तीसरा मौका दिया है, मनोज तिवारी पूर्व में दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। भाईसाब, अब बात करते हैं एक्टर रवि किशन की, तो जान लें, भोजपुरी स्टार रवि किशन को एक बार फिर से बीजेपी ने अपनी सबसे HOT सीट गोरखपुर से पार्टी का उम्मीदवार बनाया है, बात करें रवि किशन के 5 साल के कार्यकाल की तो कुल मिलाकर उनका कार्यकाल संतोषजनक रहा है, वह लगातार लोगों के बीच में उपस्थित रहे, इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री योगी के साथ कई मंचों पर अपनी उपस्थिति भी दर्ज कराई और लोगों के बीच लोकप्रिय बने रहे, शायद इसी बात का इनाम उन्हें एक बार फिर से लोकसभा के टिकट के रूप में मिला है। भाईसाब, अब बात करते हैं एक्टर दिनेश लाल यादव निरहुआ के बारे में, तो इस बार भी भजापा ने आजमगढ़ लोकसभा सीट पर सांसद दिनेश लाल यादव निरहुआ को प्रत्याशी घोषित कर अपने पत्ते खोल दिए हैं, भोजपुरी स्टार निरहुआ ने 2019 में भाजपा के साथ अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की थी, भाजपा के टिकट पर उन्होंने सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के खिलाफ चुनाव लड़ा, लेकिन उन्हें इस चुनाव में हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन 2022 में अखिलेश के लोकसभा सीट से इस्तीफा देने के बाद हुए उपचुनाव में निरहुआ ने सपा के धर्मेंद्र यादव को हराकर जीत हासिल की, जीतने के बाद वह जिले में फिल्म की शूटिंग करने के साथ ही लोगों के बीच कार्यक्रमों में भी शामिल होते रहे, उनकी सबसे बड़ी बात यह रही कि वह लोगों के बीच बने रहे और कोई भी आम व्यक्ति उनसे आसानी से मिल सकता था, जिससे उनकी लोकप्रियता में इजाफा हुआ है, जिसे देखते हुए भाजपा ने एक बार फिर उन पर भरोसा जताते हुए मैदान में उतारा है।

भाईसाब, अब शॉकिंग वाली न्यूज आपको सुनाते हैं, भोजपुरी सिंगर पवन सिंह ने लोकसभा चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है, बता दें कि बंगाल की आसनसोल लोकसभा सीट से भाजपा ने पवन सिंह को उतारने का फैसला किया था, आसनसोल सीट ऐसी है जहां से भारतीय जनता पार्टी और ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस में बराबर की टक्कर मानी जाती है. वहीं दूसरी ओर पवन सिंह के फैंस के मन में कई तरह के सवाल उठ रहे हैं कि आखिर उन्होंने तुनाव लड़ने से क्यों मना कर दिया, बता दें कि पवन सिंह अपनी गायकी की वजह से भोजपुरी ही नहीं, देशभर में मशहूर हैं, उनका गाना ‘लॉलीपॉप लागेलु’ बड़ा पॉपुलर हुआ था, अब उनके इंकार के बाद सोशल मीडिया पर चर्चा है कि बीजेपी इस सीट पर भोजपुरी एक्ट्रेस अक्षरा सिंह को चुनावी मैदान में उतार सकती है, हालांकि अभी इस सीट पर संशय बरकरार है.

banner

चलते-चलते, भाईसाब, आपको बताना जरूरी है कि भोजपुरी इंडस्ट्री के मशहूर अभिनेता राकेश मिश्रा ने भी एक्टिंग के साथ-साथ राजनीति में भी अपनी किस्मत आजमाई और 2020 में बिहार विधानसभा चुनाव में जन अधिकार पार्टी से चुनाव लड़ा, इनके अलावा एक्टर कुणाल सिंह भी भोजपुरी इंडस्ट्री में काफी लोकप्रिय हैं, वो भी राजनीति में अपनी किस्मत आजमा चुके हैं,उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा था, लेकिन जीत हासिल नहीं कर पाए.

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.