Home Latest बलूचिस्तान में बगावत, पाकिस्तान फिर टूटेगा | Balochistan Revolt

बलूचिस्तान में बगावत, पाकिस्तान फिर टूटेगा | Balochistan Revolt

0 comment
Balochistan Revolt

भाईसाब, क्या आपको पता है, पड़ोसी देश पाकिस्तान फिर से टूटने की कगार पर है, आशंका जताई जा रही है कि 1971 की ही तरह पाकिस्तान दो फाड़ हो सकता है और एक अलग देश बन सकता है, पाकिस्तान के पश्चिमी प्रांत बलूचिस्तान की आजादी के लिए संघर्ष कर रहे में बलूच लिबरेशन आर्मी यानी BLA ने सैन्य ठिकानों पर हमला बोला है और दावा किया है कि उसने माच और बोलन शहरों पर कब्जा कर लिया है, BLA ने दावा किया है कि माच शहर में हुए हमलों में पाकिस्तानी सेना के 45 जवान मारे गए हैं, जबकि पीर गैब में 10 लोगों को ढेर किया है, हालांकि, पाकिस्तान ने किसी भी सैनिक के मारे जाने से इंकार किया है।

BLA ने ‘ऑपरेशन दारा-ए-बोलन’ के तहत माच शहर और इसके आसपास के इलाकों पर कब्जा कर लिया है, इस व्यापक ऑपरेशन में BLA की विशिष्ट इकाइयां जैसे मजीद ब्रिगेड, फ़तेह स्क्वाड और स्पेशल टैक्टिकल ऑपरेशन स्क्वाड शामिल है, एक मीडिया बयान में कहा गया है कि पाकिस्तानी बलों को रोकने के लिए लैंड माइन विस्फोटकों का इस्तेमाल करते हुए क्षेत्र के चारों ओर सभी प्रवेश और निकास बिंदुओं पर भी कब्जा कर लिया गया है, इसके अलावा, सुरक्षा बलों की गतिविधियों पर बारीकी से नजर रखने के लिए, फतेह दस्ते ने पुलिस स्टेशन और रेलवे स्टेशन सहित माच शहर में रणनीतिक स्थानों पर नियंत्रण कर लिया है। BLA के लड़ाकों ने पाक सेना के ठिकानों पर रॉकेट से कई हमले किए हैं। भाईसाब, आपको जानकारी दे दें कि 1971 में पूर्वी पाकिस्तान में इसी तरह मुक्ति संघर्ष वाहिनी ने पाक सेना के खिलाफ हमले बोल दिए थे, भारत ने उसमें मुक्ति संघर्ष वाहिनी का साथ दिया था, जिसके बाद पाकिस्तान के दो टुकड़े हो गए थे और बांग्लादेश एक नए देश के रूप में आजाद हुआ था। भाईसाब, आपको बता दें कि बलूचिस्तान, वो इलाका जो पाकिस्तान से लेकर ईरान तक में फैला हुआ है, ईरान दावा करता है कि पाकिस्तान वाले बलूचिस्तान में जैश अल-अद्ल एक्टिव है, तो पाकिस्तान का भी दावा है कि ईरान के सिस्तान-बलूचिस्तान में BLA एक्टिव है, कुल मिलाकर दोनों ही बलूचिस्तान से अपने-अपने यहां आतंकवाद बढ़ने के लिए एक-दूसरे को जिम्मेदार ठहराते हैं। भाईसाब, आपको मालूम होना चाहिए कि बलूचिस्तान 3 देशों- पाकिस्तान, अफगानिस्तान और ईरान तक फैला हुआ है, इसका उत्तरी हिस्सा अफगानिस्तान के निमरुज, हेलमंड और कंधार तक फैला हुआ है, पश्चिमी हिस्सा ईरान में है, जिसे सिस्तान-बलूचिस्तान कहा जाता है, बाकी सब पाकिस्तान में है, क्षेत्रफल के लिहाज से ये पाकिस्तान का सबसे बड़ा प्रांत है, इसका नाम यहां रहने वाले बलोच लोगों के नाम बलूचिस्तान पड़ा, ये लगभग साढ़े 3 लाख वर्ग किलोमीटर के हिस्से में फैला हुआ है, पाकिस्तान की जमीन का करीब 44 फीसदी हिस्सा भी बलूचिस्तान में ही पड़ता है. भाईसाब, बलूचिस्तान भले ही पाकिस्तान का सबसे बड़ा प्रांत है, लेकिन वहां महज सवा करोड़ की आबादी ही रहती है, ये पूरा इलाका गैस और कोयला जैसे प्राकृतिक संसाधनों से भरपूर है, लेकिन उसके बावजूद यहां बहुत गरीबी है। भाईसाब, आपको जानकारी देना जरूरी है कि 1947 में बंटवारे के बाद बलूचिस्तान पाकिस्तान के पास चला गया, लेकिन बलूच लोगों का कहना है कि उन्हें जबरदस्ती पाकिस्तान में शामिल किया गया, वो आजाद रहना चाहते थे, इस कारण वहां के लोगों का पाकिस्तान की सरकार और सेना के साथ संघर्ष शुरू हो गया, जो आज भी जारी है। भाईसाब, बलूचिस्तान की आजादी की लड़ाई लड़ने वाले कई संगठन है. बताया जाता है कि बलूच और पाकिस्तान सरकार के बीच संघर्ष की शुरुआत 1948 में ही हो गई थी, विकास और राजनीतिक प्रतिनिधित्व मामले में प्रांत को नजरअंदाज करने का आरोप बलूच लोग लगाते रहे हैं, वहीं, बलूचिस्तान में उठ रही इस अलगाववाद और उग्रवाद की आवाज को पाकिस्तान की सेना और पुलिस दबाती रही है, कई बलूच एक्टिविस्टों की हत्या, किडनैपिंग और टॉर्चर करने के आरोप पाकिस्तानी सेना पर लगते रहे हैं।

चलते-चलते, भाईसाब, जान लें बलूचिस्तान आज पाकिस्तान और ईरान के बीच जंग का नया अखाड़ा बनता जा रहा है, दोनों ही देश एक-दूसरे पर आतंकियों को पालने-पोसने और उसे उनके खिलाफ इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हैं, दोनों ओर से सीमापार से होने वाले हमलों में कई पुलिसकर्मियों, जवानों और आम लोग मारे जा चुके हैं।

banner

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.