Home Gali Nukkad User AI टूल की बोलती बंद | AI Tools Silent on Politics & Elections

User AI टूल की बोलती बंद | AI Tools Silent on Politics & Elections

0 comment
AI Tools Silent on Politics & Elections

भाईसाब, क्या आपको पता है, AI यानी Artificial intelligence जो एक ऐसा platform है जहां आप किसी भी विषय पर सवाल पूछ सकते हैं और जवाब पा सकते हैं, लेकिन इस platform ने चुनाव, नेताओं और राजनीति से तौबा कर लिया है, अब इसे इस तरह डिजाइन किया गया है कि राजनीति और चुनाव जैसे पेचीदा विषयों पर बात करते समय ये platform संकोच करते हैं, ऐसा इसलिए है क्योंकि कंपनियों को डर होता है कि कहीं AI के जवाब से कोई राजनीतिक नेता नाराज न हो जाए, वहीं, कुछ लोगों को लगता है कि ऐसा करना बोलने की आजादी को दबाने जैसा होगा, हालांकि AI कंपनियां ज्यादा से ज्यादा सुरक्षा और नियमों को अहमियत दे रही हैं।

भाईसाब, भारत में लोकसभा चुनाव का आगाज चुका है, लेकिन जब गूगल gemini AI tools से चुनाव या सरकार से जुड़ा हुआ कोई सवाल पूछा जाता है, तो यह अब खामोश हो जाता है, गूगल का दावा है कि यह फर्जी खबरों और गलत जानकारी को फैलाने से बचना चाहता है, यही कारण है कि gemini ऐसे किसी भी सवाल का जवाब नहीं दे रहा है, इसके Algorithm में एक Filter लगा दिया गया है, ताकि चुनाव, बड़े नेताओं और पार्टियों से जुड़े सवालों का जवाब ही न दे। भाईसाब, आपको इस बात हंसी आ जाएगी कि चुनाव और राजनीति से जुड़े कई सवालों पर अब gemini एक ही जवाब देता है कि आप google search से इसका जवाब ढूंढ लें, इससे पहले Ola के founder भाविष अग्रवाल के Krutrim नाम के chatbot पर कुछ खास शब्दों पर रोक लगा दी गई थी, जैसे- नरेंद्र मोदी, बीजेपी और राहुल गांधी, Krutrim इन शब्दों से संबंधित कोई भी जवाब देने से खुद को रोक लेता है, भाईसाब, अगर आप Krutrim पर ये keywords लिखकर कुछ भी पूछेंगे तो जवाब मिलेगा- ‘मुझे खेद है, लेकिन मेरा वर्तमान ज्ञान इस विषय पर सीमित है. मैं लगातार सीख रहा हूं और आपके समझ की सराहना करता हूं, यदि आपके पास कोई अन्य सवाल या विषय है, जिसमें मैं मदद कर सकता हूं, तो कृपया पूछें।’ भाईसाब, वहीं AI अब राजनीति से जुड़े सवालों का जवाब देने में हिचकिचाता है, ऐसा इसलिए क्योंकि हाल ही में कुछ घटनाएं हुईं हैं जिनकी वजह से AI कंपनियां अब ज्यादा सावधानी बरत रही हैं, शुरुआत में AI से create की गई तस्वीरों में गलतियां देखी गईं थी, वहीं दुनिया के बड़े नेताओं के बारे में सवाल पूछे जाने पर विवादित जवाब सामने आए थे, ऐसे में AI के काम करने के तरीके पर कई सवाल उठ चुके हैं, और भारत सरकार भी गूगल को सलाह दे चुकी है।

भाईसाब, आपको पता होना चाहिए कि गूगल के gemini tools ने दुनिया के अलग-अलग नेताओं जैसे भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बारे में पूछे गए सवालों के कुछ विवादित जवाब दिए थे, इसके बाद भारत सरकार ने गूगल को कारण बताओ नोटिस भेजकर पूछा था कि gemini ऐसे जवाब क्यों दे रहा है और क्या गूगल को इसके लिए जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए? हाल ही में आईटी मंत्रालय ने एक एडवाइजरी जारी की थी जिसमें कहा गया था कि जो भी कंपनियां भारत में Artificial intelligence system का इस्तेमाल कर रहीं हैं उन्हें सरकार से इजाजत लेनी होगी, भाईसाब, ऐसा इसलिए जरूरी है क्योंकि ये system चुनाव जैसी लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं के लिए खतरा बन सकते हैं, इस एडवाइजरी की कुछ लोगों ने आलोचना की भी थी, उनका मानना था कि ये सरकार का ज्यादा हस्तक्षेप है, आलोचना के बाद आईटी मंत्रालय ने सफाई दी कि ये एडवाइजरी सिर्फ बड़े प्लेटफॉर्म पर लागू होगी, न कि start-ups पर. चलते-चलते भाईसाब, आपको जानकारी देना जरूरी है कि चुनाव-2024 के voting को लेकर चार अलग-अलग AI chatbot से सवाल पूछे गये, खास बात ये रही कि chatbot ने सवाल का जवाब तो दिया, मगर ये नहीं बताया कि किसे vote देना चाहिए, chatbot ने कहा, ‘यह आपका निजी फैसला है, यह निर्भर करता है कि आप किस राजनीतिक विचारधारा का समर्थन करते हैं? , एक टेक्नॉलॉजी एक्सपर्ट के मुताबिक, ये कंपनियां अपने सवाल-जवाब देने वाले AI platform में ऐसा code लिख देती हैं कि अगर कोई यूजर कुछ खास शब्दों वाला सवाल पूछता है, तो ये platform असल में जवाब देने वाले मॉडल से संपर्क ही नहीं करता है, इस कारण उस सवाल का जवाब नहीं आता है, इसकी जगह, पहले से लिखा हुआ एक जवाब सामने आ जाता है कि, ‘वो इस सवाल का जवाब नहीं दे सकते’…

banner

You may also like

bhaisaab logo original

About Us

भाई साब ! दिल जरा थाम के बैठिये हम आपको सराबोर करेंगे देशी संस्कृति, विदेशी कल्चर, जलेबी जैसी ख़बरें, खान पान के ठेके, घुमक्कड़ी के अड्डे, महानुभावों और माननीयों के पोल खोल, देशी–विदेशी और राजनीतिक खेल , स्पोर्ट्स और अन्य देशी खुरापातों से। तो जुड़े रहिए इस देशी उत्पात में, हमसे उम्दा जानकारी लेने और जिंदगी को तरोताजा बनाए रखने के लिए।

Contact Us

Bhaisaab – All Right Reserved. Designed and Developed by Global Infocloud Pvt. Ltd.